कोरोना वायरसः राज्य में सामने नहीं आया नया मामला

खबर शेयर करें

देहरादून। राज्य में कोरोना का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। कुल 16 मरीजों की जांच रिपोर्ट आई है, जिनमें किसी मे भी कोरोना की पुष्टि नहीं हुई। राज्य में अभी तक केवल तीन ही पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। वहीं हरिद्वार में पहले दिन लोगों द्वारा लॉक डाउन के आदेश का पालन नहीं करने पर प्र्र्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी है। कांग्रेस ने संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार के बचाव उपायों का समर्थन किया।

प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए सरकार के बंदोबस्त नाकाफी हैं। गरीब लोगों को मास्क और सैनिटाइजर वितरित नहीं किए गए। मलिन बस्तियों को सैनिटाइज करने के लिए कदम नहीं उठाए गए हैं। श्रमिकों व गरीब लोगों की आजीविका का प्रबंध किया जाना चाहिए। कहा कि कोरोना से निपटने को सरकार की तैयारी गरीबों को ध्यान में रखकर नहीं की जा रही है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि कोरोना का खतरा बड़ा है। ठोस और साझा रणनीति के साथ कदम बढ़ाने पर सरकार का जोर होना चाहिए। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग ने आयुर्वेदिक डॉक्टरों की सेवाएं लेनी शुरू कर दी है। जिला आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी, देहरादून डॉ. जेपी सेमवाल ने बीस आयुर्वेदिक डॉक्टरों एवं बीस फार्मासिस्टों को सीएमओ देहरादून के अधीन करने के आदेश जारी किए हैं। डॉ. राजेश जोशी को देहरादून जनपद का नोडल अधिकारी एवं डॉ. डीसी पसबोला को जनपद का ग्रुप लीडर बनाया गया है। आदेश के अनुसार राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय, चिड़ियामण्डी के डॉक्टर अजय  चमोला, विधौली के डॉ. पंकज बच्चस, डॉ. मीरा रावत, डॉ. अंकिता शाह, सेलाकुई से डॉ. भारती राजपूत, झाझरा से डॉ. अमित यादव, गुजराड़ा से डॉ. अमित रावत, इठारना से डॉ. उत्तरा पाल, कण्डोली से डॉ. सरिता राय, बुल्लावाला से डॉ. विनीता सकलानी, निरंजनपुर से डॉ. संगीता उनियाल, ऋषिकेश से डॉ. लक्ष्मण राणा, क्यारा से डॉ. सुचिता गिरी, मिंयावाला से डॉ. कुसुम खाती, धौलास से डॉ. भावना भदौरिया, नाहींकला से डॉ. रेखा आर्य, लाखामण्डल से डॉ. एमएस रावत, जस्सौंवाला से डॉ. दीपांकर बिष्ट को मेडिकल टीमों में तैनात किया गया है। लॉक डाउन के दौरान श्रमिक पर रोजी रोटी का संकट आ गया है। आज राजधानी देहरादून के पटेल नगर में श्रमिक सुबह से काम मिलने का इंतजार करते रहे। गैस एजेंसी में सिलिंडर लेने के लिए लोगों की लाइन लगी रही। निरजंनपुर मंडी में सब्जी और फलों के लिए लोगों की भीड़ लगी रही। मंडी में भीड़ नियंत्रित के लिए भी कोई उपाय नहीं है। यहां सुबह से लोंगों की भीड़ उमड़ रही है, जिससे संक्रमण का खतरा बना हुआ है। देहरादून समेत सभी सरकारी अस्पतालों की सामान्य ओपीडी में सन्नाटा पसरा है। फ्लू ओपीडी के लिए बनाए गए विंग में लगातार सर्दी, जुखाम, बुखार और खांसी के मरीज आ रहे हैं। इसके साथ ही डॉक्टरों की टीम मोबाइल कॉल और व्हाट्सएप के जरिए भी मरीजों को परामर्श दे रही है।

भारत में फैल रहे कोरोना के मद्देनज़र नेपाल ने जुलाघाट झूलापुल के दरवाज़े बंद कर दिए हैं। भारत की ओर से दरवाज़े खुले हैं। नेपाल जाने वाले कई लोग झूलापुल पर फंसे। एसएसबी के अधिकारियों के बात करने के बाद पुल 20 मिनट के लिए खोला गया। हल्द्वानी में वाहन न मिल पाने के कारण परेशान यात्री हैं। हल्द्वानी रोडवेज चौराहे पर अनचाहे वाहनों को रोकने के लिए बैरिकेडिंग लगाई गई। रोडवेज बस स्टेशन पर बस के लिए यात्री परेशान हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *