ग्रीष्मकालीन पर्यटन सीजन में पर्यटकों को परोसे जायेंगे पहाड़ी व्यंजन

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। आने वाले ग्रीष्मकालीन पर्यटन सीजन में सैलानियों को पहाड़ी उत्पादों के साथ ही पहाड़ी व्यंजन भी परोसे जायेंगे। इस बावत जिलाधिकारी सविन बंसल ने नई कार्य योजना तैयार की है। इस योजना को धरातल पर उतारने के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता मे कैम्प कार्यालय मे महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न हुई। 

जिलाधिकारी ने बताया कि पर्यटक सरोवर नगरी नैनीताल के अलावा जिले के अन्य रमणीक एवं प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण स्थलों पर विचरण करते हैं। उन्होने कहा कि पर्यटकों को पहाड़ी व्यंजनों, हस्तशिल्प, पहाडी सब्जियों, फलों से उत्पादित अचार, जैम,स्क्वेश के अलावा पहाडी अनाजों से रूबरू कराने एवं इनकी बिक्री के लिए जिले के चयनित लगभग बीस स्थानोें पर कैव गार्डन एवं बिक्री हट बनाए जायेंगे। इस व्यवस्था से जहां महिला स्वयं सहायता समूहांे के माध्यम से बिक्री बढेगी जिससे सुदूर पर्वतीय ग्रामीण क्षेत्री की महिलाआंे का आर्थिक विकास होगा।

बैठक में तय किया गया कि विकास भवन भीमताल, भवाली, नौकुचियाताल, रामगढ, मुक्तेश्वर ,नाथुवाखान, सरस बाजार हल्द्वानी, कालाढूगी, रामनगर, पवलगढ, खैरना, कैंचीधाम बाजार, सीतावनी, मालरोड निकट रोपवे मल्लीताल व अन्य स्थानों पर इस प्रकार के बिक्री हट तथा कैव गार्डन कुमाऊंनी शैली मे बनाएं जाए। इनका निर्माण कुमायू मंडल विकास निगम तथा उत्तराखण्ड पेयजल निर्माण निगम द्वारा किया जायेगा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, प्रबंध निदेशक केएमवीएम रोहित मीणा, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, एपीडी संगीता आर्या के अलावा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *