डाॅ अंबेडकर मिशन एंड फाउंडेशन ने मांगों को लेकर नेता प्रतिपक्ष को सौंपा ज्ञापन

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। अनुसूचित जाति, जनजाति समुदायों के कर्मचारियों व अधिकारियों को पदोन्नति में आरक्षण बहाल करने, रोस्टर प्रणाली पूर्ववत बहाल करने, रिक्त पड़े बैकलाॅग के पदों को भरने, संविदा के पदों पर आरक्षण व्यवस्था लागू करने व एससी-एसटी के छात्र-छात्राओं को रोकी गई छात्रवृत्ति का भुगताने करने की मांग को लेकर डाॅ अंबेडकर मिशन एंड फाउंडेशन ने नेता प्रतिपक्ष डाॅ इंदिरा हृदयेश को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में कहा गया है कि एससी-एसटी व ओबीसी की उत्तर प्रदेश के तर्ज पर चली आ रही नियुक्ति की रोस्टर प्रणाली को सरकार ने परिवर्तित कर संशोधित रोस्टर प्रणाली राज्य के अंतर्गत लागू कर दी गई है। जिसके चलते एससी-एसटी वर्ग के अभ्यथियों को भारी क्षति उठानी पड़ रही है। विभिन्न विभागों में संविदा के पदों पर आरक्षण व्यवस्था लागू न होने से आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थी संविदा के पदों का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। जो न्यायपूर्ण नहीं है। इसके साथ ही विभिन्न विभागों में एससी-एसटी, ओबीसी वर्ग के हजारों पदों का बैकलाॅग रिक्त पड़ा है, जिसे विशेष अभियान चलाकर भरा जाना चाहिए था, किन्तु सरकार इन वर्गों के हितों के प्रति उदासीन है। ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि एससी-एसटी व ओबीसी वर्ग के सभी प्राथमिक से उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्र-छात्राओं को विगत कई वर्षों से छात्रवृत्ति का भुगतान किया जाना था, किन्तु अभी तक भुगतान नहीं किया गया है। जिससे उनका पठन-पाठन प्रभावित हो रहा है। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष से इन मांगों के निराकरण के लिए सरकार ने वार्ता करने का अनुरोध किया है। ज्ञापन में अध्यक्ष जीआर टम्टा, सचिव संजय बघरवाल, कोषाध्यक्ष सुंदर लाल बौद्ध के अलावा कई पाधिकारियों के हस्ताक्षर मौजूद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *