डीएम ने दुदुली गांव में लगाई चौपाल, किया रात्रि विश्राम

खबर शेयर करें

धारी/भीमताल। मंगलवार की देर रात्रि धारी ब्लाक के दूरस्थ गांव दुदुली मे जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा लगभग 12 किमी पैदल चलकर चैपाल लगाई। उन्होने चौपाल में ग्रामीणों के साथ सीधे संवाद कर समस्यायें सुनी। अधिकांश समस्य़ाओं का मौके पर ही श्री बंसल ने निराकरण किया। चैपाल के दौरान जिलाधिकारी द्वारा ड्रोन उड़ाकर आधुनिक तकनीक से बच्चो, ग्रामीणों तथा महिलाओ को रूबरू कराया। देर रात सम्पन्न हुई चौपाल के बाद जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों ने रात्रि विश्राम भी दुदुली गांव मे ही किया।
दुदुली पहुचने पर ग्रामवासियों ने जिलाधिकारी श्री सविन बंसल का डोल-नगाड़ों के साथ भव्य स्वागत किया तथा पुष्प वर्षा भी की गांववालो का कहना था कि इतिहास मे पहली बार है कि श्री बंसल पहले जिलाधिकारी है जो कि दुदुली गांव पहुचे इससे सिद्व होता है कि जिलाधिकारी ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओ के निराकरण के लिए संवेदनशील एवं सजग है। उन्होने श्री बंसल की तारीफ भी की। इसके उपरान्त राजकीय प्राथमिक विद्यालय दुदुली में रात्रि चैपाल लगाकर जनसमस्यायें सुनी तथा मौके पर विकास कार्यो की धरातलीय सच्चाई जानी। दुदुली गांव वासियों द्वारा बिरसिंग्या व दुदुली मे बायफ द्वारा अधिक पैसे लेने तथा पशुधन प्रसार अधिकारी के न आने की शिकायत की, जिस पर श्री बंसल ने उपजिलाधिकारी को शीघ्र जांच करने के निर्देश देते हुए शीघ्रता से रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश दिये। जिलाधिकारी ने दुदुली मेे पशु चिकित्सालय में पशु चिकित्सक को सोमवार व बृहस्पतिवार को अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के आदेश मौके पर दिए।
गांववासियों की मांग पर जिलाधिकारी ने प्राथमिक विद्यालय दुदुली के जीर्णोद्वार के लिए खनिज न्यास फण्ड से 6.67 लाख की धनराशि देने की स्वीकृत की, साथ ही हाईस्कूल दुदुली के लिए श्री बंसल ने अन्टाइड फण्ड से कम्प्यूटर क्रय की स्वीकृति मौके पर दी इसके साथ ही प्राथमिक विद्यालय अमदों की चाहरदीवारी एवं पेयजल संयोजन के लिए भी खनिज न्यास फण्ड से धनराशि उपलब्ध कराने की स्वीकृति दी। उन्होने प्राथमिक विद्यालय किमतड़धुरा अध्ययनरत बालिका तनुजा को किबातें न मिलने पर किताबांे के लिए तनुजा को नकद धनराशि प्रदान की।
श्री बंसल ने देर रात्रि जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि चैपाल का मुख्य उददेश्य क्षेत्र की जनता के बीच जाकर व रात्रि विश्राम कर वहां की भौगोलिक परिस्थिति एवं चुनौतियां व समस्यायें जानकर उनका समाधान करना है। श्री बंसल ने कहा सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओ का लाभ अन्तिम छोर के व्यक्ति तक पहुचाना हमारा दायित्व है इसलिए प्रत्येक ब्लाक के दूरस्थ क्षेत्र में प्राथमिकता से चैपाल लगाकर जनसमस्यायें सुनी जायेंगी व उनका समाधान मौके पर किया जायेगा।
रात्रि चैपाल मे विभिन्न विभागों से सम्बन्धित 46 समस्यायें पंजीकृत हुई तथा सम्भावित विकास कार्यो पर विस्तृत चर्चा हुई के साथ ही अधिकांश समस्याओं का मौके पर ही समाधान किया गया। ग्राम प्रधान दुदुली ललिता देवी ने ग्वाम, खपाल में विगत चार माह से मोबाइल नेटवर्क बन्द होने व मोनीधार मे मोबाइल टावर की फ्रीक्वेंसी बढाने, तोक ढुंग मे 05 अनुसूचित जाति के परिवारों को दो किमी दूर से पानी लाने की समस्या बताते हुए पेयजल सुविधा दिलाने,शमशान घाट मे टंकी निर्माण कराने, राजकीय प्राथमिक विद्यालय दुदुली के क्षतिग्रस्त भवन की मरम्मत कराने का अनुरोध जिलाधिकारी से किया। जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता लोनिवि को तुरन्त आंगणन प्रस्तुत करते हुए खनिज न्यास फंड से स्वीकृति प्रदान की, वही दुदुली निवासी नीमादेवी को प्राथमिकता से मकान स्वीकृत कराने के निर्देश डीडीओ को दिए। दुदुली निवासी चन्द्रबल्लभ ने पूर्व में स्वीकृत पेयजल पम्पिंग येाजना जोकि अभी तक लम्बित है की स्वीकृति देने का अनुरोध किया साथ ही खपाल से भगवानपुर तक 40 वर्ष पुरानी पेयजल योजना का पुनर्गठन की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान को शीघ्र सर्वे कर राष्ट्रीय जल जीवन मिशन योजना में रखने के निर्देश देते हुए कहा कि ग्वाम वासियों के साथ विस्तृत सर्वे एवं चर्चा कर कार्य योजना तैयार करना सुनिश्चित करें ताकि कोई भी ग्वाम वासी, तोकवासी पेयजल से वंचित न रहें।
क्षेत्र पंचायत सदस्य शिवदत्त पाण्डे ने बबियाड-दुदुली सडक मार्ग पर रोडवेज की बंस संचालित करने का अनुरोध किया साथ ही दुदुली-अमदों-भटलिया तक सडक मार्ग निर्माण की मांग रखी जिस पर अधिशासी अभियन्ता लोनिवि ने बताया कि दुदुली से अमदों तक 5 किमी सडक का प्रस्ताव शासन को प्र्रेषित कर दिया गया है साथ ही अमृतपुर से ऊपर को भी सडक का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। केशवदत्त पलडिया ने राजस्व अभिलेखों मे भूमि दर्ज कराने की अनुरोध किया, जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को शीघ्र नियमानुसार भूमि दर्ज कराने के निर्देश दिये। रीड़ की हडडी रोग से ग्रस्त कमला देवी ने ईलाज हेतु आर्थिक सहायता की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से आर्थिक सहायता हेतु रिपोर्ट भेजने तथा मुख्य चिकित्साधिकारी को कमला देवी के ईलाज हेतु एम्स ऋषिकेश मे सम्बन्धित एचओडी से व्यक्गित वार्ता कर ईलाज कराने के निर्देश दिये। विपिन चन्द्र शर्मा ने कलसानदी- आरूखान मार्ग मरम्मत की मांग रखी जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को वनविभाग से समन्वय करते हुये जिला योजना से मरम्मत कराने के निर्देश दिये।
चैपाल मे चिकित्सा विभाग द्वारा 82 व्यक्तियों का निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण व दवाइयां वितरण, 2 महिलाओं का टीकाकरण, आरएसबीके की टीम द्वारा 62 बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण किया तथा 2 बच्चों को आंखों के ईलाज हेतु रेफर किया गया था बच्चो को स्वास्थ्य किट भी वितरित किये गये।
रात्रि चैपाल में ब्लाक प्रमुख आशा रानी,कनिष्ठ प्रमुख कृपाल मेहता,अध्यक्ष दुग्ध संघ मुकेश बोरा, प्रधान ललिता देवी, मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, उपजिलाधिकारी अनुराग आर्य,जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी,डीपीओ अनुलेखा बिष्ट, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि एबी काण्डपाल,जलसंस्थान संतोष कुमार उपाध्याय, समाज कल्याण अधिकारी अमन अनरिूद्व, जिला प्रोवेजन अधिकारी व्योमा जैन,मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, डीईओ एचएल गौतम, गोपाल स्वरूप,सीबीओ डा0 पीएस भण्डारी, डीएसओ मनोज बर्मन के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि एवं गांववासी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *