मंडलायुक्त ने दिये उत्तराखंड के प्रत्येक जिले में खाद्यान्न की आपूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। कोरोना संक्रमण के चलते मण्डल के किसी भी जिले में खाद्यान्न की कोई कमी नहीं होनी चाहिए। लिहाजा आरएफसी इस बात को सुनिश्चित करे कि हर जिले में गेहूं, चावल, आटा, दालें प्रचुर मात्रा में पहुंच जाएं। इसके लिए जिलाधिकारियों से समन्वय किया जाए। यह निर्देश मंडलायुक्त राजीव रौतेला ने सर्किट हाउस में आयोजित समीक्षा बैठक में दिये। उन्होेंने कहा कि कुमायूं मण्डल से गढ़वाल मण्डल को चावल की आपूर्ति की जाती है, ऐसे में सुनिश्चित कर लिया जाए कि गढ़वाल को जाने वाला चावल बिना किसी रूकावट के गढ़वाल तक पहुंच जाए। उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं के अन्तर्राज्जीय परिवहन व्यवस्था के लिए अपर आयुक्त को नोडल नामित किया गया है। उन्होंने अपर आयुक्त संजय खेतवाल से कहा कि वे मण्डल की सीमा से सटे पीलीभीत, बरेली, रामपुर, मुरादाबाद तथा बिजनौर के प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता कर इस बात को सुनिश्चित करें कि किसी प्रकार का ट्रान्सपोटेसन बाधित ना हो। जनपद नैनीताल में कोरोना वायरस संक्रमण के सम्बन्ध मे की गई तैयारियों की समीक्षा करते हुये आयुक्त ने कहा कि मंगल पड़ाव स्थित सब्जी मण्डी को तत्काल प्रभाव से बन्द कर दिया जाए ताकि वहां पर ज्यादा भीड़भाड़ जमा ना हो। लोग खरीददारी के चक्कर मे सोशल डिस्टेंसिंग की बात भूल जाते हैं, जबकि दूरी बनाये रखना संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि मंगलपड़ाव सब्जी मण्डी में जो फुटकर सब्जी विक्रेता हैं वे सब्जी व फलों की बिक्री गली-मोहल्लों मे निर्धारित समयसीमा के भीतर जाकर करे तथा फलों सब्जी खादयान के रेट निर्धारित कर दिये जाएं ताकि लोंगो को निर्धारित दरों पर ही सामान मिलें। उन्होंने कहा कि संक्रमण के मद्देनजर किसी भी प्रकार की लूट सहन नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि बड़ी मण्डी से केवल थोक व्यापारियों को ही सब्जियों व फलों की आपूर्ति की जाए। इसके अलावा उन्होने निदेशक मण्डी निधि यादव से दूरभाष पर बात करते हुये निर्देश दिये कि सभी मण्डियों से फुटकर विक्रेताओं को तत्काल हटायें। यदि फुटकर विक्रेता मण्डी से बाहर ना जाएं तो उनके विरूद्घ आपदा एक्ट के तहत कार्यवाही अमल में लाई जाये। आयुक्त ने समीक्षा के दौरान नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया को निर्देश दिये कि राशन विक्रेताओं के सभी दुकानों के आगे अनिवार्य रूप से सर्किल बना दिये जाएं ताकि लोग सर्किल में दूरी बनाते हुये खरीददारी करें। उन्होंने नगर निगम से कहा कि वे वार्डों में सफाई एवं सेनिटाइजर स्प्रे की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी आपसी समन्वय एवं सूझबूझ से अपने दायित्यों का निर्वहन करें। जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के चलते प्रदेश एवं भारत सरकार द्वारा जारी एडवाईजरी के अनुसार सभी व्यवस्थायें कर दी गई है। समय-समय पर व्यवस्थाओं का अनुश्रवण भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मोतीनगर स्वास्थ्य विभाग के प्रशिक्षण केन्द्र डॉ सुशीला तिवारी चिकित्सालय तथा प्रसार प्रशिक्षण केन्द्र गौलापार में कोरोन्टाइन सेन्टर में 100-100 बैडों की व्यवस्था कर दी गई है तथा स्वास्थ्य विभाग को 25 लाख की धनराशि पूर्व में अवमुक्त की जा चुकी है। हल्द्वानी के 6 बड़े अस्पतालों का अधिग्रहण भी कर लिया गया है। बाहर से आने वाले लोगों का जनपद में बनाई गई 10 टीमों द्वारा निगरानी की जा रही है। संक्रमण के संदेह वाले लोगों को कोरोन्टाइन सेन्टरों में सभी सुविधाओ के साथ रखा जा रहा है तथा उनकी निगरानी की जा रही है। बैठक में डीआईजी जगत राम जोशी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, प्राचार्य मेडिकल कालेज डॉ सीपी भैसोड़ा, सीएमओ डॉ भारती राणा, सिटी मजिस्ट्रेट प्रत्यूष सिंह, आरएफसी ललित मोहन रयाल, आरटीओ राजीव मेहरा, महाप्रबन्धक केएमवीएम अशोक जोशी, उपजिलाधिकारी विवके राय आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *