लंबित विवेचनाओं के निस्तारण में लाएं तेजीः डीआईजी

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। अपराध नियंत्रण के लिए ठोस कार्य योजना तैयार कर उस पर काम करना सुनिश्चित किया जाय। अपराध नियंत्रण के लिए दिन के साथ-साथ रात्रि गश्त तेज की जाए। साथ ही संदिग्धों पर पैनी नजर रखी जाये। बाहरी लोगों का सत्यापन किया जाय। यह निर्देश डीआईजी जगराम जोशी ने शनिवार को कैंप कार्यालय में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों की बैठक लेते हुए दिये।

डीआईजी ने कहा कि पुराने हिस्ट्रीशीटरों की परेड कराई जाय। जेल से छूटे हुए अपराधियों की गतिविधियों पर नजर रखी जाय। उन्होंने कहा कि लंबित विवेचनाओं के निस्तारण में तेजी जाए। विवेचना निस्तारण में इस बात का विशेष ध्यान रखा जाय कि किसी भी बेगुनाह को सजा न होने पाए और दोषी को कठोर से कठोर सजा हो। मोबाइल छीना झपटी, टप्पेबाजी, चेन स्नैचिंग जैसी घटनाओं की रोकथाम के लिए डीआईजी ने अधीनस्थों को नियमित रूप से वाहन चैकिंग अभियान चलाने के निर्देश दिये। कहा कि नाबालिग वाहन चालकों पर विशेष तौर पर कार्यवाही की जाए। ऐसे चालकों के वाहन सीज कर दिये जायें। उन्होंने कहा कि अधीनस्थ जिम्मेदारी का कर्तव्यनिष्ठा से पालन करें। इसमें कोताही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *