बालिकाओं एवं विद्यार्थियों के लिए कैरियर काउंसलिंग एवं गाइडैंस शिविर का आयोजन

खबर शेयर करें

हल्द्वानी । राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी श्री सविन बंसल की पहल पर कैम्प कार्यालय मे जिला प्रशासन एवं सेवायोजन विभाग द्वारा बालिकाओं एवं विद्यार्थियों के लिए वृहद्ध कैरियर काउंसलिंग एवं गाइडैंस शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में बालिकाओं को जागरूकता के साथ ही बालिकाओं के अधिकार, सुरक्षा, पोषण के प्रति जागरूक करते हुये इन्टरमीडिएट अथवा उच्च शिक्षा उत्तीर्ण तथा सीडीएस/एनडीए/पैरामिलैट्री फोर्स तैयारी कर रहे युवाओें की विषय विशेषज्ञों द्वारा काउंसलिंग की गई। इस अवसर पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की शपथ भी दिलाई गई।
कार्यक्रम का बतौर मुख्य अतिथि जिलाधिकारी श्री सविन बंसल व अन्य अतिथियोें द्वारा दीप प्रज्वलित कर शुभारम्भ किया। अपने सम्बोधन मे जिलाधिकारी श्री बंसल ने उपस्थित बालिकाओं को राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुभकामनायें देते हुए कहा कि बेटी एवं बेटे में कोई फर्क नहीं है आज बेटियॉ अपनी मेहनत एवं परिश्रम से कई उच्च पदों एवं सभी क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा से ऊंचाईयों को छूते हुए अपने माता-पिता, गॉव एवं प्रदेश का नाम रोशन कर रही है। उन्होने कहा समाज के विभिन्न वर्गों में बेटियों के संबंध में सोच में भी सकारात्मक बदलाव हुआ है, आज सभी परिवार बेटियों को भी बेटों के समान ही जीवन में आगे बढने के समान अवसर प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बेटियों के प्रति समाज में व्याप्त गलत अवधारणा व सोच में बदलाव आ रहा है। माता-पिता अपनी बेटियों को अच्छी शिक्षा-दीक्षा एवं उचित मार्गदर्शन दे रहे है, हमें ऐसे माता-पिता से प्रेरणा लेने की आवश्यकता है। उन्होंने बालिकाओ से अपील की कि वे जीवन में जो भी मुकाम हासिल करना चाहती हैं उसके लिए कड़ी मेहनत की आवश्यकता हैं, तथा कडी मेहनत एंव परिश्रम से ही लक्ष्य को हासिल किया जा सकता हैं।
जिलाधिकारी ने कहा कि कुमाऊं क्षेत्र के युवाओं का सैन्य व अद्र्वसैनिक बलों मे सेवा का विशेष योगदान रहा है। उन्होने कहा सेवाओं का चुनाव करना युवाओं का काम है, उनका मार्गदर्शन करना हमारा दायित्व है। उन्होने कहा विधार्थी जीवन व सेवाकाल में अनेक चुनौतियां व कठिनाई आती हंै लेकिन उनका आत्मविश्वास व धैर्य के साथ सामना करते हुये आगे बढे तभी मुकाम हासिल होता है। उन्होने कहा कि जीवन में नैतिक मूल्य अति आवश्यक हैं। नैतिक मूल्यों का हमें अनुपालन करना चाहिए ताकि अच्छे समाज का निर्माण हो सके। उन्होने युवाआंें से कहा कि उनकी जो भी समस्यायेें, जिज्ञासायें होंगी उनका निवारण के लिए हम सदैव तत्पर हैं। उन्होने कहा कि जीवन के प्रत्येक क्षेत्र मे सफलता प्राप्त करने के लिए सही समय पर सही मार्गदर्शन एवं निर्णय लेना अति आवश्यक हैै। उन्होंने सभी विद्यार्थियों से कहा कि वे अपनी-अपनी अभिरूचि के अनुसार ही कार्य क्षेत्र का चुनाव करें ताकि उस क्षेत्र में समाज को सबसे अच्छी सेवा प्रदान कर सकें।
काउंसिलिंग शिविर में कमाण्डेण्ट आईटीबीपी मुकेश यादव, कमाण्डेण्ट एसएसबी आरके त्रिपाठी, मैजर विवेक साह, मैजर साधना, डिप्टी कमाण्डेण्ट जगमोहन उपाध्याय, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी आरएस धपौला, स्क्वाडर्न लीडर हिमानी पाण्डे ने विद्यार्थियों को सीडीएस/एनडीए/पैरामिलैट्री फोर्स की तैयार, न्यूनतम योग्यता, शारीरिक मापदण्ड, कम्पटीटिव एक्ज़ाम की विषय वस्तु, साक्षात्कार, नौकरी की अधिसूचना हेतु पैरामिलैट्री व मिल्ट्री, यूपीएससी, एसएससी की विभागीय वेबसाईटों आदि की विस्तृत जानकारी दी। सभी ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि सफलता का कोई शाॅर्टकट नहीं होता बल्कि आत्म विश्वास, कठिन परिश्रम, अनुशासन, सकारात्क सोच के साथ सही समय पर लिया गया निर्णय ही सफलता की कुंजी है। कार्यक्रम का संचालन तूलिका जोशी द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, उप निदेशक सूचना योगेश मिश्रा, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, जिला सेवायोजन अधिकारी नारायण सिंह दरम्वाल, जिला शिक्षा अधिकारी हीरा लाल गौतम, समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्ध सहित विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थी व प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे लगभग 400 विद्यार्थी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *