बसंत पंचमी पर आंवलेश्वर महादेव मंदिर में यज्ञोपवित संस्कार व भंडारा

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। श्री आंवलेश्वर महादेव मंदिर के भव्य मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के साथ वार्षिकोत्सव तथा बसन्तोत्सव के पावन पर्व समारोह का समापन हो गया। इस मौके पर दर्जनों अधिक बटुकों के उपनयन (यज्ञोपवित) संस्कार के साथ विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया। जिसमें भारी संख्या में भक्तजनों ने प्रसाद ग्रहण किया। बीते दिवस सायं को मन्दिर परिसर में श्री साई म्यूजिकल ग्रुप के कलाकारों नें भजनों से पूरा वातावरण भक्तिमय बना दिया। गुरूवार को प्रातः आचार्य बसन्त बल्लभ, गिरीश जोशी, दीप चन्द्र भट्ट, अमित काण्डपाल, पं कमलेश जोशी, पंकज जोशी व अनिल द्वारा विधि-विधान के साथ दर्जनों अधिक बटुकों का उपनयन संस्कार हुआ। वेद अध्ययन के लिये बटूकों को संस्कारों और गुरूकुल की नियमावली से अवगत कराया गया। साथ बटुकों को वेद की महत्ता बताते हुए वेदों का उपयोग समाजहित में करने का संकल्प दिलाया। उपनयन के लिये सभी आवश्यक संस्कार के बाद गणेश, कलश, भूमि और गुरू पूजन हुआ। इसके बाद बटुकों को यज्ञोपवीत धारण कराया गया। दण्ड दीक्षा और भिक्षाटन के साथ गायत्री महहामंत्र दीक्षा दी गयी। इस दौरान आचार्य एवं मंन्दिर के महन्त गोपाल दत्त भट्ट ने बटुकों को बताया कि यज्ञोपवीत सनातन धर्म का प्रमुख संस्कार है। यह कवच की तरह मनुष्य की सुरक्षा करते हुए उसे सर्वगुण सम्पन्न होने का आशीर्वाद देता है। इसे धारण करने के बाद ही मनुष्य वेदाध्ययन, गायत्री मंत्र, सन्ध्योपासन का अधिकारी होता है। तद्पश्चात हवन यज्ञ पूर्णाहुति आदि पूजन कार्य के बाद दिन में 1 बजे से श्री रामलीला मैदान में भव्य भण्डारे का आयोजन किया। जिसमें भारी संख्या में भक्तजनों ने प्रसाद ग्रहण किया। उपनयन कराने वालों में हर्षित पंत, तनिष्क सनवाल, धैर्य सनवाल, मोहित, दुर्गा दत्त पाठक, नीरज, सूरज, जतिन जोशी शामिल थे। जबकि अभिभावक प्रेम चन्द्र पंत, रीना पंत, रवि सनवाल, दीपा सनवाल, भूपेन्द्र सिंह, सावित्री, टीका राम पाठक, मोहनी पाठक, कैलाश चन्द्र, ज्योति, राजेश जोशी, गीतिका जोशी मौजूद थे। इस अवसर पर मुख्य रूप से पं. प्रमोद भट्ट, दिनेश भट्ट, आवेश गर्ग, अजय चौहान, दीपक अग्रवाल, दीपू भट्ट,  संजीव सिंघल, सहित भारी संख्या में भक्तजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *