जरूरतमंदों के साथ बेजुवानों के पेट का भी रखा जा रहा ध्यान

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। लॉक डाउन के बीच फंसे लोगों, गरीबों व जरूरतमंदों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने का पुलिस-प्रशासन जहां हरसंभव प्रयास कर रहा है। वहीं इसके लिए लोग भी आगे आ रहे हैं। जरूरतमंदों को राशन के अलावा बेजुवानों के पेट का भी ध्यान रखा जा रहा है। 

 जिलाधिकारी सविन बंसल के निर्देशो के क्रम में प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जरूरतमंद लोगो को पैक राशन वितरित किया जा रहा है। मंगलवार को गणपति विहार फेज -2 विकास एंव कल्याण समित फर्म-3 डहरिया द्वारा कोरोना संक्रमण के समय 35 परिवारों को पैक राशन के पैकिट जिसमें 10 किग्रा आटा, 10 किग्रा चावल, 01 किग्रा दाल, 01 लीटर सरसो का तेल नमक तथा मसाले वितरित किये गये। इस अवसर पर आर.एफ.सी ललित मोहन रयाल, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन, जिला अर्थ एंव संख्याधिकारी ललित मोहन जोशी, सचिव डाॅ. राकेश कुमार पाण्डे, अध्यक्ष समति अजय अग्रवाल, सदस्य राजकुमार अग्रवाल, कमल सिंह परिहार, प्रताप सिंह मेहरा, भास्कर भट्ट आदि मौजूद थे।    

वहीं बेसहारों का सहारा बने कुसुम खेड़ा निवासी आशीष सीपीयू व पुलिस की मौजूदगी में लॉक डाउन का पालन करते हुये लगभग 30 परिवार प्रतिदिन राशन, बच्चों के लिये जूस, बिस्किट एवं अन्य सामग्री बांटी जा रही है। इस खाद्य सामग्री को आशीष ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले उनके परिचितों की सहयोग राशि से वितरित किया जा रहा है। साथ ही पर्सनल रिलायंस एस आर आई एवं काफल ट्री शुभ्रा तिवारी भी इसमें योगदान दे रही हैं। वह अब तक ऐसे स्थानों पर जहां दिहाड़ी मजदूरी कर अपने परिवारों का पालन पोषण करने वाले 260 परिवारों को खाद्य सामग्री वितरित कर चुके हैं। 

इधर लॉक डॉन और धारा 144 के चलते हुए बेजुबानों को भूखा घूमता देखकर बेजुबानों को चारा और बिस्किट खिलाने के लिये राहुल सोनकर अपने साथियों के साथ घूम रहे हैं। वह सड़कों पर घूमते जानवरों को अपने वाहन की मदद से चारा, पानी, हरी सब्जियां, बिस्किट लेकर निकल रहे हैं और बेजुवान जानवरों का पेट भरने का प्रयास कर रहे हैं। राहुल सोनकर का कहना है कि इंसान तो बोल कर भी कुछ भी मांग कर खा लेगा या अपनी जरूरत बता सकता है, लेकिन यह देश जुबान जानवर तो किसी से अपना दर्द और भूख एहसास से कह भी नहीं सकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *