सीएस ने दिये जनगणना 2021 की तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश

खबर शेयर करें

अल्मोड़ा। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने आगामी मई माह से प्रारम्भ होने वाली जनगणना 2021 की तैयारियों के सम्बन्ध में समस्त जिलाधिकारियों को वी0सी0 के माध्यम से आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि भारत की दशकीय जनगणना मार्च, 2021 से पूर्व संपादित की जानी है इसके लिए जिला स्तर पर पूर्ण तैयारी करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि जनगणना 2021 का शीर्षक ‘‘जनगणना से जन कल्याण‘‘ है। यह जनगणना डोर टू डोर की जायेगी जिसमें आनला.ईन पोर्टल व मैनुवल आधार पर जनगणना की जायेगी। मुख्य सचिव ने समस्त जिलाधिकारियों को समय से चार्ज अधिकारियों, प्रगणकों, सुपरवाईजरों आदि की तैनाती करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जनगणना राष्ट्रीय महत्व का कार्य है इसके आधार पर ही किसी क्षेत्र विशेष की विकास योजना तैयार की जाती है। इसमें छोटी सी त्रुटि भी चीजो को प्रभावित कर सकती है। इसके लिए दिये जाने वाले प्रशिक्षण को त्रुटिपूर्वक सम्पादित करना सुनिश्चित करें।
निदेशक जनगणना विम्मी सचदेवा ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद स्तर पर जिलाधिकारी प्रमुख जनगणना अधिकारी नियुक्त किये गये है। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारियों की इसमें महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। निदेशक ने कहा कि यथाशीघ्र फील्ड लेबल आफिसर की नियुक्ति व तकनीकी सहायकों की नियुक्ति समय से कर ली जाय। उन्होंने कहा कि 15 मार्च, 2020 तक प्रगणकों व सुपरवाईजरों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाय। उन्होंने कहा कि समय-समय पर जिलाधिकारी समीक्षा बैठकों में जनगणना के कार्य का पर्यवेक्षण करें। उन्होंने कहा कि बजट व अन्य आवश्यकताओं हेतु यथाशीघ्र प्रस्ताव जनगणना निदेशालय को प्रेषित करें ताकि धनवांटन किया जाय सके। निदेशक ने जनगणना का व्यापक प्रचार-प्रसार व बुकलेट प्रकाशित करने के निर्देश जिलाधिकारियों को दिये। उन्होंने बताया कि इस बार की जनगणना पेपर व मोबाईल एप्लीकेशन के माध्यम से की जानी है जिससे सही आंकड़े प्राप्त हो सके। जनगणना का पहला चरण 01 मई से 15 जून तक चलेगा जिसमें मकानों की गणना और सूचीकरण का कार्य किया जायेगा जबकि दूसरे चरण में प्रगणकों द्वारा घर-घर जाकर प्रत्येक व्यक्ति की गणना की जायेगी। इस दौरान उन्होंने अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर भी प्रकाश डाला। वी0सी0 में जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि सभी निर्देशों का यथाशीघ्र अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा। इस दौरान अपर जिलाधिकारी बी0एल0 फिरमाल, उपजिलाधिकारी मोनिका, मुख्य शिक्षाधिकारी एच0बी0 चन्द, परियोजना निदेशक नरेश कुमार, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी मनोहर लाल, सूचना विज्ञान अधिकारी अमित लाम्बा, प्रशासनिक अधिकारी भीम सिंह मेर के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *