संचालक हॉस्टल व पेईंग गेस्ट में सीसीटीवी कैमरा लगाया : पुलिस अधीक्षक

खबर शेयर करें

देहरादून। आज पुलिस अधीक्षक नगर द्वारा पुलिस क्षेत्राधिकारी मसूरी, थानाध्यक्ष थाना प्रेमनगर, चौकी प्रभारी झाझरा की उपस्थिति में थाना प्रेमनगर क्षेत्रान्तर्ग पड़ने वाले कॉलेज, हॉस्टल, प्राईवेट हॉस्टल, पेईंग गेस्ट संचालको की बैठक आयोजित की गई। जिसमें करीब 60-70 संचालको द्वारा प्रतिभाग किया गया। बैठक के दौरान संचालको द्वारा कई समस्या व सुझाव दिये गये तथा पुलिस अधीक्षक नगर द्वारा उपस्थित समस्त संचालको को कहा गया की अपने हॉस्टल, पेईंग गेस्ट में सीसीटीवी कैमरा लगाया जाय व पूरे परिसर को सीसीटीवी कैमरा से कवर किया जाय। हॉस्टल, पेईंग गेस्ट में रहने वाले समस्त छात्र-छात्राओं का डाटा बेस तैयार कर डाटा बेस की एक प्रति थाना प्रेमनगर को उपलब्ध करायें। डाटा बेस में छात्र-छात्राओं की सम्पूर्ण जानकारी इन्द्राज की जाए। हॉस्टल, पैईंग गेस्ट को संचालित करने वाले स्टॉफ का भी पुलिस के माध्यम से सत्यापन कराया जाए। हॉस्टल, पैईंग गेस्ट में छात्र- छात्राओं को एडमिशन देते वक्त पहले ही बता दिया जाए कि पुलिस द्वारा प्रदत्त नियमों का पालन करेगें तथा छात्रों से इस सम्बन्ध में एक अनुबन्ध पत्र लिया जाय। हॉस्टल, पैईंग गेस्ट हाउस संचालको को एक एडवाईजरी अलग से प्रेषित की जा रही है जिन्हें यह निर्देशित किया गया है कि अपने- अपने रिसेप्सन पर इस निर्देशिका को चस्पा करें। हॉस्टल, पैईंग गेस्ट हाउस में जो सुरक्षा कर्मी, गेटकीपर लगाया जाए उन्हें भी निर्देशित करें कि जो भी छात्र, छात्रा हाँस्टल, पीजी से अन्दर- बाहर जाये उनकी एंट्री रजिस्टर में करें तथा चैकिंग करें कि उनके पास कोई नशीला पदार्थ न हो। हॉस्टल,पीजी में आने वाले स्वामी स्वीगी, जमैटो अन्य एजेन्सी के खाना सर्व करने वालों को भी गार्ड द्वारा चैक कर लिया जाए कि उनके पास भी कोई नशीला अवैध सामग्री न हो। प्रत्येक हॉस्टल, पीजी के संचालक यह सुनिश्चित करें कि रात्रि 10.00 बजे के बाद कोई भी छात्र-छात्रा बिना उचित कारण के बाहर न जाये। यदि रात्रि में कोई छात्र चैकिंग के दौरान बिना बजह के संदिग्ध अवस्था में घूमता पाया जाता है तो सम्बन्धित छात्र के साथ-साथ हॉस्टल, पीजी संचालको के विरूद्ध भी विधिक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। प्रत्येक हॉस्टल, पीजी संचालक सुनिश्चित कर लें कि उनके यहाँ जितने छात्र हॉस्टल में पढ़ते है वही उपस्थित व मौजूद रहे इसके अलावा यदि कोई छात्र, छात्रा रहते है तो उसका उचित कारण अपने आगन्तुक रजिस्टर में इन्द्राज करें। यदि किसी काँलेज के पास छात्रो की रहने की अपनी व्यवस्था न हो और कालेज अपने छात्रों की निजी हॉस्टल में रूकने की व्यवस्था करते हैं तो उसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी कालेज प्रशासन की होगी। वार्ता के दौरान उपस्थित हॉस्टल, पीजी संचालको द्वारा सुझाव दिया गया कि अक्कसर छात्रों द्वारा जैमेटो जैसी सर्विस के माध्यम से भी नशे शराब आदि मंगायी जा रही है जिनकी विधिवत चैकिंग की जानी चाहिये इसके अलावा संचालकों द्वारा यह भी बताया गया कि हॉस्टल, कालेजों के आस पास स्थित दुकानों, मेडिकल स्टोरों पर भी सिगरेट तम्बाकू की आड़ में नशे की सामग्री छात्रों को मुहैया करायी जा रही है तथा संचालकों द्वारा नन्दा की चौकी से विधौली, डूंगा, धूलकोट, सुद्वौवाला क्षेत्र में समय-समय पर पुलिस की पैट्रोलिंग कार द्वारा गस्त करने की मांग की गयी। जिस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक नगर महोदय द्वारा प्रेमनगर एक शिक्षण संस्थान का हब बन गया है, यहाँ पर स्थानीय जनता व प्रत्येक छात्र-छात्रा को सुरक्षा प्रदान करना थाना पुलिस का कर्तव्य है, इस वजह से सम्पूर्ण विधौली, नन्दा की चौकी, सुद्धौवाला, माण्ड़ुवाला क्षेत्र में पुलिस की पैट्रोलिंग समय-समय पर की जायेगी। हॉस्टल/कालेज/ पीजी के आस पास के होटल दुकान व मेडिकल स्टोर को चैंक करेंगे कि कही कोई नशीला पदार्थ छात्रों को तो नही बंच रहा है। गोष्ठी में उपस्थित क्षेत्राधिकारी मसूरी, थानाध्यक्ष प्रेमनगर व चौकी प्रभारी झाझरा को निर्देशित किया गया है कि विधिवत रूप से जैमेटो आदि सर्विस देने वाले वाहनों की चैकिंग की जाय, यदि कोई नशीला पदार्थ मिलता है तो सम्बन्धित के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही करें तथा हॉस्टल, कालेजो के आस-पास स्थित दुकानों एवं ढाबो को भी चैंक करें यदि नशीला पदार्थ का या सिगरेट, हुक्काबार का समान मिलता है तो सम्बन्धित धाराओं में व कोटपा में चालान किया जाय तथा समयानुसार विधोली, डूंगा, धूलकोट, माण्डूवाला, सुद्धौवाला व नन्दा की चौकी पर पुलिस की पैट्रोलिंग व गस्त में इजाफा किया जाय। मौके पर उपस्थित समस्त संचालकों को अवगत कराया गया कि बहुत जल्द कण्डोली –विधौली में एक पुलिस चौकी की स्थापना की जा रही है जिससे इस क्षेत्र में पुलिस की विजिबिलिटी अधिक होगी तथा जनता को सहयोग प्रदान करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *