मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिए आदेश

खबर शेयर करें

कोरोना वायरस को लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह तत्पर एवं सतर्क है। यह बात प्रदेश के स्वास्थ्य महकमे के अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कही। उन्होने कहा कि देश विदेश मे कोरोना महामारी के रूप मे घोषित हैै। इसलिए कोरोना से मुकाबला करने के लिए सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली जांए। सभी जिलाधिकारी अपने जनपदों मे अपर जिलाधिकारी को नोडल अधिकारी के रूप मे तैनात करें तथा सभी उपजिलाधिकारी चिकित्सालयों का भ्रमण कर आईसोलेशन वार्ड, दवा, उपकरण, मास्क सफाई व्यवस्था आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कर लें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 22 मार्च को प्रातः 7 बजे से 9 बजे के बीच जनता कर्फू का आह्वाहन किया है। इस बात का जनजन तक प्रचार प्रसार किया जाए तथा यह सुनिश्चित किया जाए तथा लोग निर्धारित अवधि मे अपने घरों मे ही रहें। जागरूकता ही संक्रमण को रोकने का एक उपाय है। जनसहभागिता को शामिल करते हुये कोरोना से मुकाबला किया जाए, अभी तक प्रदेश मे कोरोना संक्रमित 3 केसों की पुष्टि हुई है, वर्तमान मे ंस्थित नियंत्रण मे है लेकिन भविष्य चिन्ताजनक है। लिहाजा भविष्य का संज्ञान लेते हुये सभी अस्पतालों में समय रहते सभी व्यवस्थाये पूरी कर ली जांए। उन्होने कहा कि प्रदेश में बाहर से आने वाले देशी-विदेशी पर्यटको का आगमन प्रतिबंधित कर दिया गय है परन्तु जो पर्यटक प्रदेश मे हैं उन पर निगरानी रखी जाए तथा उन्हे अनावश्यक तौर से प्रदेश से बाहर ना निकाला जाए। प्रशासनिक स्तर पर कोई ऐसी कार्यवाही ना की जाए जिससे भय का वातावरण सृजित हो और आपाधापी की स्थिति ना बने।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा सभी जिलाधिकारी अपने जिलों मेे कार्यालयों,बसों, रेलवे स्टेशनों,बसों,टैक्सी, टैम्पों, विक्रम आदि वाहनों का भलीभांती सेनेटाइज करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा सार्वजनिक स्थलों,चिकित्सालयो, बैंको, एटीएम अन्य स्थलोें पर जहां पब्लिक का आवागमन बना रहता है को भी नियमित सेनेटाइज करना सुनिश्चित करें। इस हेतु बस, टैक्सी, टैम्पो यूनियनों से वार्ता भी कर ली जाए। उन्होने जिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिेये कि अपने-अपने जनपदो मे सेनेटाइज करने हेतु पर्याप्त मात्रा मे सोडियम क्लोराइड की व्यवस्था करना भी सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि जनपदों के चिकित्सालय, तहसीलों, मुख्य बाजारों अन्य महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्थलोें पर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए क्या करें क्या ना करें के जागरूकता होर्डिग्स, बोर्ड आदि लगाकर प्रचार-प्रसार किया जाए इसके अलावा जनसाधारण के बीच पम्पलेट आदि का वितरण भी करायेे ताकि अधिक से अधिक जनता जागरूक हो सके।
मुख्य सचिव श्री उत्पल कुुमार सिह ने कहा कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा जो एडवाइजरी जारी की गयी है उसके अनुसार ही जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्साधिकारी साथ ही अन्य सम्बन्धित अधिकारी व्यवस्थायें करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि अपने क्षेत्र के उद्योगों मे भी सेनेटाइजेशन किया जाए तथा कर्मचारियों की नियमित स्केनिंग की जाए। उन्होने नगर निकायो के अधिकारियो को निर्देश दिये कि वह अपने-अपने क्षेत्रोें में स्प्रे एव सेनेटाइजेशन करना सुनिश्चित करें तथा सफाई कर्मचारियों को मास्क तथा अन्य सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करायें। उन्होने कहा कि सभी जिलाधिकारी स्थिति पर पैनी नजर रखें तथा व्यवस्थायें सुनिश्चित कर लें मेलों तथा स्थानीय हाटबाजारों जहां जनसमुदाय बडी संख्या मे आता है पर रोक लगा देें ताकि संक्रमण ना फैलने पाये। समय समय पर यथा सम्भव प्रतिदिन मीडिया को ब्रीफिंग भी दी जाए।
पुलिस महानिरीक्षक अनिल रतूडी ने बीसी मे उपस्थित सभी पुलिस अधिकारियोें से कहा कि एसडीआरएफ द्वारा सभी जनपदों मे पुलिस, होमगार्ड, सीआरपीएफ कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होने कहा कि विदेश से आने वाले लोगो पर पुलिस महकमे को विशेष निगरानी रखते हुये उनका स्थानीय प्रशासन से समन्वय कर परीक्षण कराया जाए। इस संक्रामक बीमारी मे पुलिस महकमे को प्रशासन से समन्वय कर अपने दायित्यों का भलीभांती निर्वहन करना होगा। उन्होने सभी पुलिस लाईनों, बटालियनों,थानों,कार्यालयों का नियमित सेनेटाइजेशन करने साथ ही संक्रमण से स्वयं अपनी सुरक्षा भी करनी होगी।
आयुक्त कुमाऊ श्री राजीव रौतेला ने जानकारी देते हुये बताया कि कुमाऊ मण्डल मे स्थिति नियंत्रण में है तेजी से फैल रहे वायरस के मददेनजर एहतियात के तौर पर सभी व्यवस्थायें पूर्ण कर ली गई है। सभी अस्पतालों मे आइसोलेशन वार्ड बना दिये गये है बाहर से आने वाले लोंगो पर निगरानी की जा रही है। प्रशासन, पुलिस तथा स्वास्थ्य महकमे के साथ ही अन्य विभागों को अलर्ट कर दिया गया है।
जानकारी देते हुये जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने बताया कि कोरोना वायरस के लिए जिले के सभी अस्पतालो मंे आइसोलेशन वार्ड सक्रिय कर दिये गये है। वार्डो मे आक्सीजन, कन्सीनेटर, आक्सीजन सिलेन्डर, नैशलाइजर, फेसमास्क,एन-95, पीपीई, सेनेटाइजर खरीद किये जाने के लिए आपदा मद से 25 लाख की धनराशि भी स्वास्थ्य महकमे को अवमुक्त कर दी गई है। उन्होने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के मोतीनगर प्रशिक्षण केन्द्र तथा प्रसार प्रशिक्षण केन्द्र बागजाला मे 100-100 बैड क्यूरेंटाइन सुविधा भी बना दी गई हैै। कोरोना वायरस संक्रमण के सम्बन्ध मे जिले की 600 एएनएम,आशा कार्यकत्रियो ंको प्रशिक्षण भी दे दिया गया है। उन्होने बताया कि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमित तथा लक्षण हेतु लोगों की पहचान के लिए स्वास्थ्य महकमे की 10 टीमें भी बनाई गई है, यह टीमें घर-घर जाकर कार्य कर रही हैै। उन्होने बताया कि वर्तमान में 27 लोग निगरानी में हैं जनपद के सभी अस्पतालों मे पुलिस भी लगा दी गई है। जनपद में 11 सैम्पल लिये गये जिसकी रिपोर्ट नगेटिव प्राप्त हुई है। जिले में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी प्रभावी कदम उठाये गये है। जिले के सभी माॅल, जिम,होटल, पैराग्लाइडिंग सेन्टर, झीलों मे नौकायन, घुडसवारी पर रोक लगा दी है। धर्मगुरूओं से दोतरफा संवाद कायम कर पूजा, प्रार्थना, नमाज आदि घरों से ही किये जाने की वार्ता की गई हैै। धर्मगुरूओं द्वारा प्रशासन को सहयोग दिया जा रहा है, जिसके चलते कैची धाम, हैडाखान व अन्य धार्मिक स्थलों पर लोगो का आनाजाना रोका गया है सभी विद्यालय व अन्य संस्थान 31मार्च तक के लिए बन्द कर दिये है लोगो ंको मास्क एवं सेनेटाइजर प्रयोग के लिए प्रेरित किया जा रहा है इन चीजों की ओवररेटिंग एंव कालाबाजारी को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा जांच भी की जा रही है।
कांफ्रेसिंग में सचिव अरविन्द हृयांकी, अमित नेगी, नितेश झा,प्रभारी सचिव डा0 पंकज कुमार पाण्डे के अलावा, जनसम्पर्क अधिकारी माननीय मुख्यमंत्री विजय बिष्ट,डीआईजी कुमायू जगत राम जोशी, एसएसपी सुनील कुमार मीणा,प्रधानाचार्य राजकीय र्मेिडकल कालेज डा0 सीपी भैसोडा,निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डा0 संजय साह, अपर आयुक्त संजय खेतवाल,सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह,मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भारती राणा, एसीएमओ डा0 रश्मि पंत, डा0 तरूण कुमार, सीएमएस बेस डा0 हरीश लाल, डा0 बीडी जोशी, डा0 बलविन्दर सिह आदि मौजूद थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *