भीख मांगने व कूड़ा बीनवाने के बजाय बच्चों को बनाएं शिक्षितः एसएसपी

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने भीख मांगने व कूड़ा बीनने वाले बच्चों को शिक्षित बनाने के साथ ही उन्हें समाज से जोड़ने पर जोर दिया। वीरांगना संस्था व पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार के तत्वावधान में बाल भिक्षावृत्ति रोकने के लिए चलाई जा रही मुहिम के तहत रेलवे स्टेशन में भिक्षावृत्ति करने वाले बच्चों के माता-पिता को जागरूक करने के लिए चलाये गये अभियान में एसएसपी ने कहा कि शिक्षा सभी का अधिकार है। शिक्षा से वंचित बच्चों को शिक्षा व समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए वीरागंना संस्था द्वारा किया जा रहा प्रयास सराहनीय है। उन्होंने कहा कि भीख मांगने व कूड़ा बीनने वाले नाबालिग बच्चों को विध्योपार्जन की ओर प्रेरित कर भिक्षावृत्ति, नशा व गंदगी के ढ़ेरों से कबाड़ बीनने जैसा जोखिम भरे काम पर रोक लगाकर बच्चों को शिक्षा व समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। इसमें सभी को अपना योगदान देना चाहिए। संस्था के सचिव योगेश रजवार ने बताया कि बस्तियों में बसे परिवार शिक्षा व जागरूकता के अभाव में अपने जीवन यापन को सुधार नहीं पाएं हैं। इन परिवारों के अशिक्षित होने के कारण इनके नाबालिग बच्चे जीवन के गुजर-बसर के लिए भिक्षावृत्ति व कूड़े के ढ़ेरों से कबाड़ बीनने जैसा कदम उठाने को मजबूर हैं। ऐसे बच्चों को चिन्हित कर संस्था इनके स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण व मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करते हुए इनके जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए बच्चों का दाखिला प्राईमरी पाठशालाओं में कराने का कार्य कर रही है। जिससे बच्चे शिक्षित होकर बाल श्रम, भिक्षा, नशा मुक्त होकर समाज व शिक्षा से जुड़ सकें। उन्होंने कहा कि संस्था का यह प्रयास आगे भी जारी रहेगा। पार्षद शाकिर हुसैन ने कहा कि संस्था द्वारा इस प्रकार के बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास सराहनीय है। इसमें वह अपने स्तर से हरसंभव सहयोग को तत्पर हैं। इस दौरान बनभूलपुरा थाना प्रभारी सुशील कुमार, एसआई संजीत राठौड़, गुंजन अरोरा, मोनिका, दीपिका, सरोज खन्ना, रश्मि, शेर दिल समेत कई लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *