कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने नेता प्रतिपक्ष से की बजट सत्र को लंबा चलवाने की मांग

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश से उत्तराखंड विधान सभा के बजट सत्र को लंबा चलाने के लिए सरकार पर दबाव बनाने की मांग की है। जिससे इस सत्र में जनहित के मुद्दों पर चर्चा कर उन पर निर्णय लिया जा सके। 

शनिवार को कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने नेतृत्व में नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश से मिला। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने कहा कि प्रदेश के सर्वांगीण विकास व जनहित सम्बन्धित नीतियां निर्धारण करने में विधानसभा सत्र का अपना एक विशेष महत्व होता है। लेकिन उत्तराखंड में विधानसभा का सत्र संसदीय परम्परा के अनुसार न होकर सिर्फ औपचारिकता पूरी करने तक ही सीमित रहता है। जबकि यह सत्र अन्य राज्यों की तरह अधिक दिनों तक जारी रहना चाहिए, ताकि प्रदेश के विकास कार्यों पर व्यापक बहस कर निर्णय हो सके। कहा कि अगर पिछले कुछ वर्षों के विधानसभा सत्रों पर नजर डालें तो उत्तराखण्ड में प्रतिवर्ष सभी विधानसभा सत्र मिलाकर सिर्फ 10-12 दिन ही विधानसभा चलती है, जो कि सिर्फ शर्मनाक ही नहीं बल्कि उत्तराखण्ड की भोली-भाली जनता के साथ धोखा भी है।

बताया कि आगामी बजट सत्र 3 मार्च से 7 मार्च तक, यानि मात्र 5 दिन होना प्रस्तावित है, जो कि पर्याप्त नहीं है। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष से मांग की कि विधानसभा के आगामी बजट सत्र को प्रदेश के विकास हेतु सरकार पर दबाव बनाकर लम्बी अवधि तक बढाया जाए, ताकि प्रदेश की सर्वांगीण विकास व जनहित की नीतियों पर गंभीर चर्चा हो सके। इस मौके पर महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्या, ए.आई.सी.सी. सदस्य राजपाल सिंह बिष्ट, भुवन कापड़ी, पूर्व चेयरमैन लालकुआं रामबाबू मिश्रा, राजेन्द्र खनवाल, संदीप चीमा, कांग्रेस प्रदेश सचिव किरण डालाकोटी, पूर्व चेयरमैन कालाढूंगी दीप सती, संजय किरौला, तारा नेगी, राहुल छिम्वाल महानगर अध्यक्ष, डाॅ केदार पलडिया, हेम चन्द आर्य, ब्लाॅक अध्यक्ष कुन्दन नेगी, जीवन अधिकारी, महेश कब्डाल, महेश काण्डपाल, नवतेजपाल सिंह, कैलाश बमेठा, कमल जोशी, भागीरथी बिष्ट, जया कर्नाटक, राधा चौधरी, नीलू नेगी, वकील अहमद, गिरीश भट्ट, कुलदीप तडियाल, संजय साह, भगवती बिष्ट, मनोज खुल्बे, मनोहर नेगी, मनोहर आर्य आदि लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *