कोरोना वायरसः कड़े पहरे में रहेंगे क्वारंटाइन किए गए लोग

खबर शेयर करें

लोगों से गुलजार व वाहनों से खचाखच भरे रहने वाले स्थानों में भी दिख रहा सन्नाटा

हल्द्वानी/ देहरादून। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉक डाउन के बीच इससे निपटने के लिए प्रशासन पूरी तैयारी में जुटा हुआ है। इसके तहत जहां चिकित्सा संसाधनों की सुनिश्चितता की जा रही है। वहीं अन्य व्यवस्थाओं का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है। साथ ही अब क्वारंटाइन लोगों को भी कड़े पहरे में रखा जा रहा है। इसके लिए आदेश भी जारी कर दिए गए हैं।

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉक डाउन का यहां पूर्णतया पालन होता दिख रहा है। लोग 11वें दिन भी घरों में कैद रहे और जरूरी सामान खरीदने के लिए ही बाहर निकले। जरूरी सामान घरों से दूर जाकर खरीदने वालों की संख्या भी अब कम ही दिखाई दे रहा है। जरूरी सामान खरीदने के लिए दी गई छूट के दौरान भी सड़कों पर दुपहिया वाहन भी बहुत कम ही दिखाई दे रहे हैं। हमेशा लोगों से गुलजार व वाहनों से खचाखच भरे रहने वाले स्थानों में भी सन्नाटा पसरा दिखाई दे रहा है। हर कोई अपनी व अपनों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए चितिंत दिखाई दे रहा है। दुकानों से सामान खरीदने में भी सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। जरूरतमंदों तक पुलिस-प्रशासन खाद्य व अन्य सामग्री पहुंचाने के हरसंभव प्रयास कर रहा है। इसके लिए पुलिस कंट्रोल रूम के साथ-साथ टोल फ्री व व्हाट्सअप नंबरों का सहारा भी लिया जा रहा है। सड़कों में उतरकर अधिकारी लगातार व्यवस्था बनाने में जुटे हुए हैं। किसी को भी अनावश्यक रूप से सड़क में घूमने नहीं दिया जा रहा है। सामान खरीदने वालों से भी सोशल डिस्टेंस का पालन करने के लिए कहा जा रहा है। पुलिस जगह-जगह बैरिकेटिंग लगाकर आनेे-जाने वालों को रोक रही है और बिना वजह घूमने वालों को सबक सिखा रही है।

वहीं चिकित्सा टीमें लगातार बाहर से आये लोगों पर नजरें रखे हुए हैं। अब तक बाहर से आये कई लोगों को क्वारंटाइन किया जा चुका है। क्वारंटाइन किये गये लोगों की सुरक्षा व्यवस्था भी अब बढ़ा दी गई है। इसके लिए जिलाधिकारी सविन बंसल ले आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। अपने आदेश में जिलाधिकारी ने कहा है कि वर्तमान में जनपद नैनीताल के तबलीक जमात में सम्मिलित कतिपय व्यक्तियों के कोरोना वायरस कोविड -19 के संक्रमण की सम्भावना के दृष्टिगत इन व्यक्तियों व संक्रमण की दृष्टि से अन्य संदिग्ध व्यक्तियों को जिला नैनीताल में क्वारंटाइन किया गया है। क्वारंटाइन किये गये लोग केन्द्रों से बाहर जाने का प्रयास कर सकते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए इन केन्द्रों के प्रवेश एवं निकासी द्वारों को पूर्ण रूप से सील कर दिया जाय। साथ ही इन स्थलों पर पर्याप्त संख्या में पुलिस एवं सुरक्षा बल की तैनाती 24 घटें रखी जाय। अपर पुलिस अधीक्षक व सिटी मिजिस्ट्रेट प्रतिदिन अपने स्तर से व्यवस्था की मॉनीटरिंग करेंगे। इसके अलावा क्वारंटाइन किये गये लोगों का आपस में मिलना-जुलना भी पूर्णतया प्रतिबंधित कर दिया जाय। जबकि इनके मेडिकल परीक्षण के दौरान पुलिस व प्रशासन के सक्षम अधिकारी भी मौके पर उपस्थित रहेंगे।

पुलिस-प्रशासन ने दून अस्पताल में भी बनाई पैनी नजर 

देहरादून के दून अस्पताल में कोरोना संदिग्ध जमातियों द्वारा किए गए हंगामे के बाद पुलिसकर्मी, पीएसी, एसडीआरएफ और एलआईयू के जवान तैनात किए गए हैं। पुलिस प्रशासन ने दून अस्पताल पर पैनी नजर बनाई हुई है। तब्लीगी जमात में शामिल हुए 10 जमातियों को रात तक पुलिस और स्वास्थ्य विभाग ने दून अस्पताल क्वारंटीन वार्ड में भर्ती कराया था। जब कैंटीनकर्मी अस्पताल स्टाफ के साथ क्वारंटीन वार्ड में भोजन देने गए तो जमातियों ने हंगामा कर दिया। जमातियों का कहना था कि उन्हें पूरा खाना नहीं दिया जा रहा है। जबकि स्टाफ का कहना था कि अस्पताल में मिलने वाले भोजन में मरीजों की डाइट के हिसाब से निर्धारित सामग्री दी जाती है। स्टाफ ने इसकी शिकायत कोरोना के काॅर्डिनेटर एवं डिप्टी एमएस डाॅ. एनएस खत्री से की। स्टाफ ने बताया कि जमाती मरीज उनकी सलाह भी नहीं मान रहे हैं। यही नहीं स्टाफ के साथ बदतमीजी भी की जा रही है। इससे महिलाकर्मी उस वार्ड में जाने से कतराने लगी हैं। डाॅ. खत्री ने इसकी सूचना देहरादून के डीआईजी अरूण मोहन जोशी को दी। जिसके बाद पहुंची पुलिस ने जमातियों को सख्त हिदायत दी कि अगर हंगामा किया तो कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *