सरकार संकल्प पत्र में किये गये वादों को पूर्ण करने की दिशा में तेजी से अग्रसरः प्रकाश रावत

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। उत्तराखण्ड सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रकाश रावत मानते हैं कि सूबे की त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार पार्टी के संकल्प पत्र में किये गये वादों को पूर्ण करने की दिशा में तेजी से अग्रसर होने के साथ-साथ ईमानदार व पारदर्शी शासन प्रदान करने में सफल रही है। उनका कहना है कि इन तीन वर्षो के कार्यकाल में मुख्यमंत्री आम जनमानक के बीच एक ईमानदार व्यक्तित्व के रूप में स्थापित हुए हैं। आज कोई व्यक्ति उनकी ईमानदारी व नीयत पर संदेह नहीं कर सकता।

पर्वतीय क्षेत्रों से पलायन रोकने व रिवर्स पलायन पर इन तीन वर्षो में काफी काम हुआ है सरकार का इस संदर्भ में गठित पलायन आयोग द्वारा सुझाये गये बिन्दुआंे पर क्रमबद्ध तरीके से क्रियान्वयन करना पलायन पर सरकार की गंभीरता को साफ दर्शाता है। दूसरा रोजगार के क्षेत्र में खास तौर से पर्वतीय क्षेत्र को दृष्टिगत रखते हुए की गई इन्वेस्टर समिट और इन समिट के परिणाम स्वरूप आ रहे निवेश से आने वाले दिनों में रोजगार सृजन के वृहद अवसर प्राप्त होने लगेंगे। साथ ही युवा आयोग का गठन कर युवाओं की समस्या को समझना व निस्तारण करने की ओर भी सरकार गंभीरता से कार्य कर रही है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में राज्य के पास उपलब्ध संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल करते हुए राज्य के सभी नागरिकों को अटल आयुष्मान योजना के दायरे में ले आना एक उल्लेखनीय कार्य है। कृषकों की आय दोगुना करने के संकल्प पर कार्य करते हुए सरकार के कृषि विभाग, उद्यान विभाग व राज्य के कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड ने कई दूरगामी योजनाओं पर कार्य करते हुए इस दिशा में सार्थक पहल की है।
श्री रावत ने कहा कि देवस्थानम बोर्ड बनाने का फैसला सरकार द्वारा धार्मिक स्थलों के बेहतर रखरखाव व श्रद्धालुओं को अपेक्षित सुविधाएं प्रदान करने के लिहाज से अच्छा कदम है। पर्वतीय क्षेत्रों में आधारभूत सुविधाओं के विकास को गति देने व राज्य आंदोलनकारियों/आंदोलन में षहीद लोगों की भावना व अपेक्षा के अनुरूप गैरसैंण को ग्रीष्म कालीन राजधानी बनाना राज्यवासियों को एक सुखद अनुभूति प्रदान कर गया। यह निर्णय राज्य के मुख्यमंत्री की पर्वतीय क्षेत्रों के व्यापक विकास की नीयत को भी प्रदर्शित करता है।
उनका कहना है कि संतुलित विकास की दिशा में भी मुख्यमंत्री द्वारा प्रत्येक विधायक से एक समान व निश्चित धनराशि के प्रस्ताव आमंत्रित कर समान विकास की ओर भी सराहनीय कार्य किया है। सहकारिता के क्षेत्र में विभिन्न सहकारी समितियों के माध्यम से कृषकों को आसान ऋण व उर्वरक/कीटनाशक की उचित व्यवस्था की ओर भी सरकार ने कार्य किया है। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में दूरस्थ व पर्वतीय क्षेत्रों में संसाधन युक्त महाविद्यालय भवनों के विकास की ओर सरकार तेजी से कार्य करने में सफल रही है। पर्यटन के क्षेत्र में नये स्थानों का चिन्हीकरण व विकास से जहां राज्य में पर्यटकों की संख्या में इजाफा हुआ है वहीं सरकार की स्टेहोम योजना स्थानीय लोगों की आय में वृद्धि के साथ-साथ पलायन को थामने का सार्थक प्रयास है। सोलर विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में किया गया प्रयास राज्य की विद्युत उत्पादन क्षमता को बढ़ाने के साथ-साथ स्थानीय लोगों की आय का एक अतिरिक्त स्त्रोत बनेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *