हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी की सुध लेने के लिए एक मंच से गरजा जनसंगठन

खबर शेयर करें

देहरादून। भारतीय थल सेना में ड्यूटी बजा रहे सैन्य कर्मी हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी 8 जनवरी से अचानक लापता हो गए हैं। इतने दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक कोई भी जानकारी सामने नहीं आ रही है। हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी के परिजन प्रतिदिन कष्टप्रद मानसिकता में जी रहे हैं।उत्तराखंड की राष्ट्र भक्त कौम का प्रत्येक नागरिक अपने इस लाल की सलामती को लेकर बेहद चिंतित है। इसी को लेकर गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान ने आज हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी की जानकारी और सुध लेने के लिए भारत सरकार को एक ज्ञापन प्रेषित किया है। ज्ञापन प्रेषित करने के लिए आज बड़ी संख्या में उत्तराखंड के सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान के मंच पर एकत्रित हुए। वहां पर एक गंभीर विमर्श किया गया और हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी की खोज कर उन्हें वापस लाने की गुहार भारत सरकार से लगाई गई। भारत सरकार के प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री को भेजे गए ज्ञापन में लिखा गया है कि भारतीय सेना के 18 गढ़वाल के हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी विगत 8 जनवरी 2020 से ड्यूटी के दौरान से लापता हो गए हैं। हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी की स्थिति के बारे में अभी तक कोई सुराग व सूचना प्राप्त नहीं हुई है और इस स्थिति के कारण उनका परिवार मानसिक रूप में प्रताड़ित हो रहा है। ज्ञापन में कहा गया है कि उत्तराखंड की राष्ट्र भक्त कौम का कथन है कि ‘सैनिक भारत की शान है, तो सैनिक परिवार क्यों परेशान है?’ इस ज्ञापन में भारत सरकार से मांग की गई कि अविलंब भारतीय सेना के 18वीं गढ़वाल यूनिट के हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी को ढूंढ निकालें। ज्ञापन में यह भी मांग कि गई की हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी के परिवार को ढांढस बंधाने हेतु शासन-प्रशासन सदैव उस परिवार के संपर्क में रहें। प्रधानमंत्री और गृहमंत्री भारत सरकार को भेजे गए ज्ञापन को प्रशासन की ओर से नगर मजिस्ट्रेट मथुरा दत्त जोशी द्वारा प्राप्त किया गया। उन्होंने कहा कि प्रशासन शासन हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी एवं अन्य सैनिक परिवारों के प्रति सदैव चिंतनशील बना रहता है। ज्ञापन देने वालों मे मुख्य रूप से पूर्व आई.ए.एस सुरेंद्र सिंह पांगति, रघुवीर सिंह बिष्ट, दौलत कुंवर, लक्ष्मी प्रसाद थपलियाल, मनोज ध्यानी, विजय सिंह रावत, श्रीमती कमला पंत, श्रीमती निर्मला बिष्ट, रविंद्र जुगरान, मदन सिंह भंडारी, पुरुषोत्तम भट्ट, प्रकाश चंद्र थपलियाल, चंद्र मोहन जली, पुष्कर नेगी, अनिल रावत, श्रीमती सुमन डोभाल काला, प्रकाश चंद्र गौड़, रविंद्र प्रधान, सुशील कैंतूरा, गणेश धामी, वीरेंद्र सिंह रावत, प्रशांत बडोनी, रोहित ध्यानी, अंकित बिष्ट, रविन्द्र त्यागी, हर्षिता सनवाल, बृज मोहन सिंह नेगी, शंकर सागर सिंह, राजेंद्र सिंह राणा, विवेक शर्मा, सोनिया नौटियाल गैरोला, प्रवीण गुसाईं, सुरेंद्र सिंह रावत, सोहन सिंह रावत, मुकेश नेगी, सतीश धौलाखंडी, जसवंत सिंह जंगपांगी आदि शामिल थे। नगर मैजिस्ट्रेट के माध्यम से भेजे गए ज्ञापन को अभियान के रणनीति कार मनोज ध्यानी ने पढ़ा। गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान की आज हुई सभा में हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी की कुशल वापसी के लिए प्रार्थना भी की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता रघुवीर सिंह बिष्ट व संचालन युवा नेता मदन सिंह भंडारी व सुशील कैंथुरा ने संयुक्त रूप में किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *