कोरोना वायरस से निपटने को दिये दिशा-निर्देश

खबर शेयर करें

भीमताल। कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर जिला प्रशासन सर्तक है। जिसके मददेनजर जिलाधिकारी सविन बंसल ने विकास भवन सभागार में चिकित्सा विभाग एवं संबंधित अधिकारियों के साथ एक आवश्यक बैठक आहूत की, जिसमें मुख्य चिकित्साधिकारी एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।
जिलाधिकारी श्री बंसल ने कहा कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए इसके लिए सर्तकता बरतने की जरूरत है। इसलिए यह जरूरी हैं कि कोरोना वायरस से सम्बन्धित लक्षण यदि किसी भी व्यक्ति में पाये जाते है तो उसे प्राथमिकता के आधार पर आइशोलेशन वार्डों में रखा जाय। उन्होंने जिला पर्यटन अधिकारी को निर्देश दिये हैं कि जनपद के सभी होटलों में सावधानी बरती जाय तथा बाहर से आने वाले पर्यटको एवं अन्य लोगांे पर विशेष निगरानी रखने व सतर्कता बरतने के निर्देश दिये। जिला पंचायत राज अधिकारी को ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम प्रधानों के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के निर्देश दिये। उन्होंने समाज कल्याण, बाल विकास व राजस्व विभाग के फील्ड कर्मचारियों के माध्यम से भी इस संक्रमण के बचाव व सर्तकता बरतने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगो को जागरूक करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने आम जनमानस से अपील की हैं कि कोरोना वायरस से अनावश्यक घबराने की आवश्यकता नहीं है सावधानी एवं सर्तकता से ही इससे बचा जा सकता है। उन्होंने लोगांे से अनावश्यक यात्रा न करने, भीड-भाड़ वाले जगहों व मेला, त्योहार आदि क्षेत्र में जाने से परहेज करें यदि आवश्यक हो तो तभी जायें, तथा सर्दी, जुकाम व बुखार होने पर तत्काल अपने नजदीकी स्वास्थ केंद्र में जांच करायें।
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भारती राणा ने कहा कि कोरोना वाइरस संक्रमण एक वाइरस जनित रोग हैं वर्तमान में इसका संक्रमण चीन सहित 70 देशों में फेल चुका हैं। उन्होंने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि कोरोना वायरस से बचाव एवं सर्तकता के लिए जिला चिकित्सालय द्वारा सभी आवश्यक तैयारियां की गयी हैं जिसमें जिला चिकित्सालय में आइशोलेशन वार्ड तैयार किया गया है। इसके लिए उन्होंने कहा कि सभी डॉक्टरों एवं कर्मचारियों को भी आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने जनपद वासियों से अपील की हैं कि इस संक्रमण से घबरायें नहीं यह साधारण सर्दी जुकाम है। उन्होंने कहा कि कोरोना वाइरस संक्रमण के लक्षण जिसमें बुखार, खासी, जुकाम, गले में खरास तथा सांस लेने में परेशानी आदि इसके लक्षण हैं। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव यदि कोई व्यक्ति पिछले दिनों के दौरान चीन व अन्य देशों से भ्रमण से आया हो या कोरोना वायरस संक्रमित रोगी के संपर्क में आया हो तो लक्षण होने पर नजदीकी स्वास्थ केंद्र पर अनिवार्य रूप से संपर्क करें। कोरोना वाइरस होने पर इन बातों को विशेष ध्यान रखें। जिसमें (क्या करें) खांसते अथवा छीकते समय अपने मुंह एवं नाक को रूमाल से ढकें, नाक, कान अथवा मुंह को छूने से पहले एवं बाद में अपने हाथ हो साबुन आदि से धोयें, खाना खाने से पहले व बाहर से आने पर हाथ साबुन से अच्छी तरह से धोयें, अधिक मात्रा में तरल पदार्थ तथा पौष्टिक आहार का सेवन करें। क्या न करें। शिष्टाचार में हाथ न मिलायें, गले न लगें एवं अन्य संपर्क बढाने वाले कार्य न करें। बिना चिकित्सकीय परामर्श के दवा ने लें तथा अनावश्यक यात्रा से परहेज करें।
बैठक मे डिप्टी सीएमओ डा0 तरूण कुमार टम्टा, डा0 रश्मि पंत,चिकित्सा अधीक्षक सुशीला तिवारी डा0 अरूण जोशी,सीएमएस डा0 भागीरथी जोशी, डा0 हरीश लाल, मुख्य कोषाधिकारी अनिता आर्या,खष्टी बिष्ट, डा0 बीडी जोशी, डा0 बलबीर सिह,सपना आर्या,नीमा आर्या, नीरज जोशी,रवि जोशी के अलावा रेडक्रास सोसाइटी एवं एनजीओ के सदस्य मौजद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *