कोरोना वायरसः उत्तराखंड में अब तक तीन पाॅजीटिव व 82 निगेटिव सैंपल

खबर शेयर करें

देहरादून। स्वास्थ्य विभाग ने जानलेवा कोरोना वायरस संक्रमण के 19 सैंपल जांच के लिए मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी भेजे गए हैं। अब तक तीन पॉजिटिव, 82 सैंपल निगेटिव पाए गए।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार देहरादून, नैनीताल और हरिद्वार जनपद से बृहस्पतिवार को कुल 19 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। इसमें कोरोनेशन हास्पिटल से पांच, मैक्स हास्पिटल से तीन, एम्स ऋषिकेश, मिलिट्री हास्पिटल, ओएनजीसी अस्पताल, महिला अस्पताल हरिद्वार से दो-दो सैंपल, जीएमसी हल्द्वानी और जिला अस्पताल नैनीताल से एक-एक सैंपल जांच के लिए लिया गया। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश भर में 474 आईसोलेशन बेड की व्यवस्था कर दी है। इसके अलावा अन्य जिलों में बेड की संख्या बढ़ाने के लिए कार्रवाई की जा रही है। वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश भर में 413 लोगों को घरों में क्वारंटाइन में रखा है। जबकि 41 लोगों की अस्पतालों में निगरानी की जा रही है।

महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ. अमिता उप्रेती ने बताया की विदेश दौरे से आए इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी के सभी प्रशिक्षु आईएफएस के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। जिसमें दो और प्रशिक्षु के सैंपल पॉजिटिव पाए गए। दोनों को दून अस्पताल के आईसोलेशन में शिफ्ट किया गया है। बाकी प्रशिक्षुओं की रिपोर्ट निगेटिव आई है। पूरे एफआरआई क्षेत्र को पूर्ण प्रतिबंधित करने के लिए जिलाधिकारियों को आदेश दिए गए हैं। सभी गेटों को बंद किया जाएगा।
खतरनाक कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रदेश में दवाईयों की किल्लत नहीं होगी। औषधि नियंत्रण विभाग की ओर से आकलन के अनुसार उत्तराखंड में स्थापित फार्मा कंपनियां आठ घंटे में 110 करोड़ टेबलेट और 44 लाख बॉटल सिरप बना सकती हैं।

प्रदेश के हरिद्वार, देहरादून और ऊधमसिंह नगर जनपद में स्थापित 220 फार्मा कंपनियां विभिन्न प्रकार की दवाईयां बना रही हैं। देश के कुल फार्मा कारोबार में उत्तराखंड की 18 प्रतिशत हिस्सेदारी है। कोरोना वायरस फैलने की स्थिति से निपटने के लिए औषधि नियंत्रण विभाग ने प्रदेश में दवाईयों के उत्पादन क्षमता का आंकलन किया है। विभाग का दावा है कि प्रदेश भर में स्थापित फार्मा उद्योग आठ घंटे की एक शिफ्ट में पर्याप्त मात्रा में दवाईयां बना सकती है। इससे प्रदेश में वायरस संक्रमण के नियंत्रण के लिए दवाईयों की कमी नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *