कोरोना वायरसः सोशल डिस्टेंस का ध्यान क्यों नहीं?

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी बन चुका है। इससे बचने के लिए लॉक डाउन लागू किया गया है। लोगों से घरों में रहने के लिए कहा गया है और अतिआवश्यक कार्य से ही बाहर निकलने के लिए कहा जा रहा है। संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखने के लिए कहा जा रहा है। ऐसे में पुलिस-प्रशासन ने दुकानों के बाहर उचित दूरी से सामान खरीदने के लिए गोले बनाए गए हैं। लेकिन जनता सामान की जल्दबाजी में सामाजिक दूरी न बनाकर खरीददारी करती नजर आ रही है।

सरकार, पुलिस-प्रशासन लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने के लिए कह रहा है, बावजूद इसके लोग इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। जरूरत का सामान खरीदने के लिए मिली छूट के दौरान कहीं-कहीं पर लोग जल्दी सामान लेने के चक्कर में एक-दूसरे से सामाजिक दूरी बनाना मुनासिब नहीं समझ रहे हैं और एक-दूसरे से चिपक कर सामान खरीद रहे हैं। यह लापरवाही लोगों को खुद के साथ-साथ उनके परिवारजनों को भी कोरोना वायरस के संक्रमण के नजदीक ला सकती है। ऊंचापुल, मुखानी के अलावा बाजार क्षेत्र में खुली कई दुकानों पर भी सामाजिक दूरी का उल्लंघन होता दिख रहा है। फल-सब्जी की दुकानें व ठेले तो दूर लोग मेडिकल स्टोरों से दवाईयां लेने में सामाजिक दूरी बनाना उचित नहीं समझ रहे हैं। इस तरफ दुकानदारों का भी कतई ध्यान नहीं जा रहा है। दुकानदार सामाजिक दूरी बनाने का सुझाव देने के बजाय लोगों की मांंग के अनुसार उन्हें सामान उपलब्ध कराते देखे जा रहे हैं। जहां एक ओर कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं। इसके बढ़ने की वजह भी संक्रमित लोगों के एक-दूसरे से मिलना-जुलना बताया जा रहा है, लेकिन कुछ लोग अभी भी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए एक-दूसरे से सामाजिक दूरी बनाने के बजाय जल्दबाजी करते दिख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *