लॉक डाउनः सेवा-कर्तव्य व मानवता की मिशाल हो रही कायम

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। वैश्विक आपदा का रूप ले चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लागू लॉक डाउन के बीच लोग अभी भी जहां-तहां फंसे हुए हैं। जिनकी मदद को पुलिस-प्रशासन के अलावा आम जनता भी आ रही है। लोगों के ठहरने व खाने की व्यवस्था भी की जा रही है। सभी यात्रियों को 31 मार्च को भेजा जाएगा।

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए जहां-तहां फंसे लोगों का अभी भी हल्द्वानी के रोडवेज स्टेशन पहुंचने का क्रम जारी है। जगह-जगह फंसे हुए लोगों के जाने के लिए सरकार ने 31 मार्च का दिन निर्धारित किया है। इस दिन प्रातः 7 से सायं 8 बजे तक लोगों के जाने के लिए सरकार वाहन का प्रबंध करेगी। इस अवधि तक सभी यात्रियों को गौलापार स्थित युवा भवन भेजा जा रहा है। जहां उनके रहने व खाने की व्यवस्था की गई है। रोडवेज स्टेशन से युवा भवन तक जाने के लिए वाहन लगाये गये हैं। इसके अलावा पुलिस अधिकारी व कर्मचारी सड़क में फंसे रिक्शा चालकों, मजूदर तबके के लोगों को भोजन उपलब्ध करा रहे हैं।

पुलिस कर्मचारी जहां घर-घर जाकर जरूरतमंदों को खाद्यान्न उपलब्ध करा रहे हैं, वहीं सड़कों में फंसे लोगों के लिए मैस में भोजन तैयार कर वितरित किया जा रहा है। इसके लिए पुलिस के उच्चाधिकारियों ने जहां अपने पांच का वेतन दिया है। वहीं दरोगाओं ने तीन दिन व कांस्टेबलों ने दो दिन का वेतन भी दिया है। सड़कों में इधर-उधर फंसे बाहरी लोगों को तत्काल गौलापार पहुंचाया जा रहा है। इसके अलावा लोग भी मानवता का धर्म निभाते हुए अपने घरों से भोजन बनाकर जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे हैं। इसके अलावा कई लोग अपने घरों व बैंक्वट हॉलों में लोगों के लिए भोजन बनाने की व्यवस्था में जुटे हुए हैं। राहत पहुंचाने में सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। कई सामाजिक संस्थाएं भी जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने के कार्य में जुटी हुई हैं। लोग सड़क पर घूम रहे बेजुवान जानवरों को भी भोजन कराते देखे गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *