लॉक डाउनः घबरायें नहीं, फोन ही सलाह देंगे चिकित्सक

खबर शेयर करें

देहरादून। विभिन्न अस्पतालों में विभिन्न संक्रमित मरीजों और कोरोना के संदिग्ध मरीजों को कॉउंसलिंग के लिए मनोवैज्ञानिकों और मनोचिकित्सकों की जरूरत पड़ने लगी है। इसे देखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग ने ऐसे मरीजों को मोबाइल पर मनोचिकित्सकों और मनोवैज्ञानिकों से काउंसलिंग कराने का निर्णय लिया है। उन मनोवैज्ञानिकों की शिफ्टवार ड्यूटी भी तैनात कर दी गई है। जो ऐसे मरीजों की मोबाइल के जरिए ऑनलाइन काउंसलिंग करेंगे।

जिले के विभिन्न अस्पतालों में उपचार करा रहे कोरोना ग्रसित और कोरोना संदिग्ध मरीजों के लिए सीएमओ की पहल पर मनोचिकित्सकों और मनोवैज्ञानिकों से ऑनलाइन यानि फोन पर काउंसलिंग की सुविधा शुरू की गई है। सीएमओ की ओर से मनोचिकित्सकों और मनोवैज्ञानिकों की सूची जिले के सरकारी अस्पतालों को उपलब्ध करा दी गयी है। दरअसल, कोरोना को लेकर कुछ संदिग्ध मरीज भी बहुत परेशान हो रहे हैं। खासतौर से कोरोना संक्रमित मरीज इस बात को लेकर ज्यादा घबराए हुए हैं। जिन अस्पतालों में इस तरह के मरीज भर्ती हैं वहां पहले से ही मौजूद डॉक्टर उनकी काउंसलिंग कर रहे हैं, लेकिन अब ऐसे मरीजों के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग की सुविधा शुरू की गई है। सीएमओ डॉ मीनाक्षी जोशी की ओर से जारी आदेश में बताया गया है कि काउं‌सलिंग की सेवा देने के लिए जिले के पांच मनोचिकित्सकों और मनोवैज्ञानिकों का रोस्टर जारी किया गया है। जिसमें डॉ निधि काला सोमवार, बुधवार और शनिवार, डॉ प्रतिभा शर्मा सोमवार, वीरवार, शनिवार, नीलम जोशी मंगलवार,वीरवार, रविवार, डॉ अनुराधा मंगलवार, शुक्रवार, रविवार और डॉ सोना कौशल बुधवार और शुक्रवार को काउंसलिंग करेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *