2 करोड़ से होगा मंडी-तीनपानी सड़क का रखरखाव

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। जिलाधिकारी सविन बंसल ने कैंप कार्यालय में लोक निर्माण विभाग द्वारा जनपद में संचालित निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए बताया कि लोक निर्माण विभाग के निर्माण कार्यों में फॉरेस्ट से सम्बन्धित क्षतिपूरक भूमि के अधिकांश मामलों का निस्तारण करा दिया गया है, शेष मामलों का निस्तारण भी 15 दिन के भीतर करा दिया जायेगा। उन्होंने एक करोड़ से अधिक की लागत से लोहाली मोटर मार्ग, भीमताल बाईपास, रानीबाग टू-लेन कार्यों, पंगोट-देचैरी मोटर मार्ग, सोड़-घुघुखान मोटर मार्गों को समय सीमा-सीमा के भीतर कार्य करने के निर्देश दिए।जिलाधिकारी ने बताया कि जनहित एवं पर्यटन विकास के लिए उनके द्वारा तैयार कराये गये प्रोजेक्ट अमृतपुर बायपास निर्माण हेतु घोषणा की गयी है। इस प्रोजेक्ट पर शासन द्वारा 70 लाख की धनराशि भी स्वीकृति कर दी गयी है। उन्होंने अधिशासी अभियंता लोनिवि प्रान्तीय खण्ड को निर्देश दिए कि नैनीताल की लोअर माल रोड़ की मरम्मत के लिए 41 करोड़ का जो प्रस्ताव शासन को भेजा गया है, उस प्रस्ताव में आईआईटी रूड़की के वैज्ञानिकों के तकीनीकी सर्वे को भी शामिल करें। उन्होंने भीमताल झील की दीवारों की मरम्मत तेजी से किये जाने की हिदायत भी दी। उन्होंने बताया कि रानीबाग टू-लेन पुल निर्माण की वित्तीय स्वीकृति शासन से मिल चुकी है। श्री बंसल ने बताया कि तीनपानी से मण्डी तक की क्षतिग्रस्त सड़क के रख-रखाव एवं मरम्मत लोनिवि हल्द्वानी द्वारा की जायेगी, इस कार्य के लिए 2 करोड़ की धनराशि एनएचएआई दी जाने की स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है। श्री बंसल ने बताया कि इस बार काफी अरसे बाद जनपद के पर्वतीय क्षेत्रों में बड़ी मात्रा में हिमपात हुआ है। हिमपात की वजह से बन्द सड़कों को तेजी से खोलने तथा यातायात सुचारू बनाये रखने के लिए लोनिवि को एसडीआरएफ फण्ड से अतिरिक्त धनराशि उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होंने अधिशासी अभियंता लोनिवि एबी काण्डपाल से कहा कि वह भीमताल झील से मेहरा गाॅव तथा भवाली बाजार से थाने तक के क्षतिग्रस्त मार्ग को युद्ध स्तर पर पैंचवर्क कर ठीक करें। उन्होंने कहा कि फरवरी का महीना दस्तक दे चुका है, यह समय सड़कों की मरम्मत एंव पैंचवर्क के लिए उपयुक्त है, लिहाजा जिले की सड़कों को दुरूस्त करने का काम युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया जाये ताकि पर्यटक सीजन से पहले जनपद की सड़कें ठीक हो सकें। बैठक में अधीक्षण अभियंता रणजीत सिंह रावत, सिटी मजिस्ट्रेट प्रत्यूष सिंह, उप जिलाधिकारी गौरव चटवाल, विजयनाथ शुक्ल, अधिशासी अभियंता डीएस कुटियाल, महेन्द्र कुमार, एबी काण्डपाल, एचएस रावत, दीपक गुप्ता आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *