नशे की गिरफ्त में आये लोगों की दें सूचना, होगा मुफ्त ईलाज

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से राजकीय इन्टर कॉलेज राजपुरा में विधिक साक्षरता एवं जागरूकता बहुद्देशीय शिविर का आयोजन किया गया। काफी संख्या में लोगों ने पहुंचकर विधिक साक्षरता शिविर का लाभ उठाया। शिविर का शुभारम्भ प्राधिकरण सचिव इमरान मोहम्मद खान द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।
शिविर में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुये सचिव विधिक सेवा प्राधिकरण श्री इमरान ने कहा कि विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा प्रदेश में संकल्प देवभूमि नशा मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कोई नशा करते हुये पाये जाने पर जानकारी दें ताकि उसका मुफ्त में इलाज कराया जा सके। श्री इमरान ने कहा कि सोशल मीडिया मे कोई ऐसी पोस्ट ना करें जिससे किसी की धार्मिक आस्था को कोई ठेस ना पहुचे। उन्होने महिलाओं एवं बच्चो के साथ हो रहे शारीरिक उत्पीडन एवं यौन शोषण की घटनाओं के सम्बन्ध कहा कि उत्तराखण्ड अपराध से पीड़ित सहायता योजना 2013 के बारे मंे बताया कि पीडित पक्ष पीडिता के ईलाज, उपचार एवं पुर्नवास के लिए आर्थिक सहायता हेतु आवेदन कर सकता है। उन्होने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल द्वारा समाज के आर्थिक रूप से परेशान तबके वर्ग को निशुल्क विधिक सेवायें उपलब्ध करायी जाती है। जिससे कोई भी व्यक्ति आर्थिक तंगी के कारण न्याय पाने से वंचित ना रह पाये।
शिविर में सचिव श्री खान द्वारा मजदूरो के विधिक अधिकारो के बारे में जानकारी के साथ ही महिला हैल्प लाइन,बाल हैल्प लाइन, पोक्सो एक्ट एवं किशोर न्याय बोर्ड के बारे मे विस्तार से जानकारी दी। श्री इमरान ने कहा कि शिविर का मुख्य उद्देश्य सभी को न्याय पहुचे यही हमारा उद्देश्य है। बहुद्देशीय शिविर में महिला सशक्तिकरण, समाज कल्याण, राजस्व विभाग, श्रम, वन,कृषि, स्वास्थ, शिक्षा एवं विद्युत, ग्राम्य विकास, पुलिस तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण तथा आधार कार्ड बनाने के स्टाल लगाये गये। बहुद्देशीय शिविर में स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गयेे। सारक्षता शिविर में उपजिलाधिकारी विवेक राय, उपनिदेशक योगेश मिश्रा, श्रम प्रर्वतन अधिकारी मीनाक्षी काण्डपाल, सीपीयू इंस्पेक्टर हरिकेश सिंह, सहायक समाज कल्याण अधिकारी हरीश नाथ गोस्वामी, वन स्टाॅफ सेन्टर सरोजनी जोशी द्वारा अपने-अपने विभागों के बारे मे विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। नशा मुक्ति परामर्श एवं पुनर्वास केन्द्र नशे के दुष्प्रभावो पर जानकारी दी। इस अवसर पर महिलाओं पर हिंसा व अन्य प्रकार की घटनायें घटित होती रहती है, जिससे उनका मनोबल घटता है और उनका शोषण भी होता है। उन्होने कहा कि महिलाओ को कानूनी जानकारी के लिए यह शिविर काफी उपयोगी है। शिविर में श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों के 27 फार्मे भरवाये गये तथा 51 श्रम फार्मो का वितरण किया गया। साथ ही राजस्व विभाग द्वारा स्थायी, जाति, पेंशन आदि के 17 फार्म वितरित किये गये साथ ही शिविर मे 18 लोगों के आधार कार्ड बनवाये गये। समाज कल्याण विभाग द्वारा विधवा, वृद्वा एवं विकलांग के 70 फार्म वितरित किये गये जिसमें से 7 लोगोें द्वारा जमा किये  गये। कृषि विभाग द्वारा 17 फार्म वितरित किये गये एवं  दवायेें वितरित की गई, स्वास्थ्य विभाग द्वारा 35 लोगों का परीक्षण कर दवायें दी गई, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा स्टाल लगाकर लोेगोें को साहित्य वितरण के साथ ही विस्तृत जानकारियां दी गई। शिविर में प्रधानाचार्य गोविन्द डसीला, चिकित्सक डॉ आलम, एडीजीएम बहुद्देशीय वित्त विकास निगम केएस बिष्ट सहित स्कूल के शिक्षक, विद्यार्थी एवं स्थानीय जनता उपस्थित थी। शिविर का संचालन पैरा लीगल वालियन्टियर्स किरन पंत द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *