30 अप्रैल को ब्रह्म मुहूर्त में तीर्थयात्रियों के लिए खोल दिए जाएंगे धाम के कपाट

खबर शेयर करें

देहरादून। बसंत पंचमी के मौके पर बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित कर दी गई है। नरेंद्र नगर स्थित टिहरी नरेश के राज दरबार में बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की विधिवत घोषणा की गई। धाम के कपाट 30 अप्रैल को ब्रह्म मुहूर्त में 4.30 बजे तीर्थयात्रियों के लिए खोल दिए जाएंगे। कुल पुरोहितों ने महाराज मनुजयेंद्र शाह की जन्म कुंडली देखकर मंदिर के कपाट खोलने का मुर्हत निकाला। कपाट खुलने की तिथि घोषित होने के साथ ही भगवान बदरी विशाल के नित्य महाअभिषेक पूजा में प्रयुक्त होने वाले तिल के तेल पिरोने की तिथि18 अप्रैल निश्चित की गई है। गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट 26 अप्रैल को अक्षय तृतीया के दिन खुल जाएंगे। वहीं शिवरात्री के दिन केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाएंगे। अभी तीनों धाम के कपाट खुलने का शुभ मुहूर्त तय नहीं हुआ है। इस मौके पर बदरी-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, बद्रीनाथ के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी, सीईओ बीडी सिंह, धर्माधिकारी भुवन उनियाल,चारधाम विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष आचार्य शिव प्रसाद ममंगाई आदि उपस्थित रहे। इसके साथ ही डिमरी पंचायत के प्रतिनिधियों ने बाजू पर काली पट्टी बांधकर देवस्थानम अधिनियम का विरोध जताया। उन्होंने कहा सरकार तीर्थ पुरोहितों के हक हकूकों पर कुठाराघात कर रही है। जिसका वे डटकर विरोध करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *