हमारे बच्चों को इलाहाबाद से वापस लादो मुख्यमंत्री जी….

खबर शेयर करें

देहरादून। जनजातीय क्षेत्र जौनसार बावर से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए इलाहाबाद गए 45 छात्र वहीं पर फंस कर रह गए हैं। ऐसे में इन छात्रों के अभिभावाकों ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से इन छात्रों को वापस लाने की मांग की है।

अभिभावकों का कहना है कि क्षेत्र के लखवाड़, फटेऊ, खतासा, उपरोली, घणता, साडी, कोटुवा, बाइला, डकियारना, मंगाड, लुधेरा, खाती, बिसोई, कांडी, उदांवा, उद्पाल्टा, पटियारना, खतार, टुंगरा, ठाणा, पटियान समेत दो दर्जन से भी अधिक गांव के छात्र इलाहाबाद में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं लेकिन, लॉकडाउन होने के बाद इन छात्रों के सामने संकट खड़ा हो गया है। वहां पर मैस को बंद कर दिया गया है। टिफिन सर्विस को भी बंद कर दिया गया है। जिसके चलते इन छात्रों के सामने भोजन का संकट खड़ा हो गया है। लॉकडाउन के चलते अभिभावक अपने छात्रों के पास पैसे भी नहीं भेज पा रहे हैं। ऐसे में अभिभावकों ने मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाई है। अभिभावक चतर सिंह चौहान, दीवान सिंह चौहान, दीप सिंह पंवार, देवी सिंह, अजब सिंह राय, मान सिंह चौहान, राजेंद्र सिंह राय, अर्जुन सिंह राय, भगवान चौहान, गंगा सिंह, नरेंद्र सिंह तोमर, जालम सिंह चौहान, अर्जुन सिंह तोमर, दिनेश चौहान, प्रताप सिंह, बलवंत सिंह पंवार, जगत सिंह चौहान मुन्ना चौहान, दर्मियान सिंह पंवार, तोलाराम, ज्ञान सिंह तोमर, अतर सिंह रावत, सियाराम रावत आदि का कहना है कि सरकार को इन छात्रों को वापस लाने का इंतजाम करना चाहिए। लॉकडाउन के चलते कई मकान मालिक छात्रों को वहां से निकाल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *