पुलिसिया दमन के विरोध में फूंका प्रदेश सरकार का पुतला

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। क्रांतिकारी लोक अधिकारी संगठन, प्रगतिशील महिला एकता केंद्र व परिवर्तनकामी छात्र संगठन कार्यकर्ताओं ने गुजरात अंबुजा के संघर्षरत मजदूरों के पुलिसिया दमन के विरोध में बुद्ध पार्क में प्रदर्शन कर उत्तराखंड सरकार का पुतला दहन किया। इस दौरान कहा गया कि गुजरात अंबुजा, सिडकुल सितारगंज के मजदूर अपनी वेतन बढ़ोत्तरी, नियमितीकरण, ईएसआई सुविधा देने जैसी मांगों लेकर आंदोलनरत हैं। लेकिन फैक्ट्री प्रबंधन उनकी मांगों को मानने के बजाय उनके दमन पर उतारू हैं। पुलिस और प्रशासन के साथ मिलकर प्रबंधन मजदूरों व उनकी पत्नीयों को धरनास्थल से उठाकर अलग-अलग चैकियों में ले गये। कहा कि मजदूरों की मांगों को श्रम कानूनों के दायरे में सुलझाने के बजाय पुलिस-प्रशासन से उनका दमन करवाने का कार्य किया जा रहा है। वक्ताओं ने कहा कि राज्य सरकार निरंतर मजदूर विरोधी नीतियों की ओर अग्रसर है। मजदूरों की जायज मांगों को सुनने, श्रम कानूनों को लागू कराने के स्थान पर सरकार लाठी और जेलों की भाषा में बात कर रही है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने सरकार से श्रमिकों की मांगों पर तत्काल अमल करने की मांग की। पुतला दहन में पीपी आर्य, मोहन मटियाली, उमेश, सुनील, महेंद्र, उमेश पांडे, अरबाज खान, नीता, रूपाली, उमेश चंदोला, रजनी आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *