राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने की संचालित योजनाओं की समीक्षा

खबर शेयर करें

हरिद्वार। उत्तराखण्ड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती विजया बडथ्वाल ने आज जिलाधिकारी कार्यालय रोशनाबाद में जनपद के अधिकारियों के साथ महिलाओं के विरुद्ध समाज मे होने वाली हिंसा एवं उत्पीडन की रोकथाम एवं महिलाओं के लिए विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा की। अध्यक्ष ने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी सुनिश्चित कर ले कि भारत सरकार द्वारा संचालित तथा राज्य सरकार द्वारा संचालित जितनी भी योजनाएं है उनका कितना लाभ महिलाओं को मिल रहा है और इन योजनाओं से ज्यादा से ज्यादा महिलाएं लाभान्वित हो उसके लिए कितने प्रयास किये गये। चिकित्सा विभाग से जानकारी लेते हुये उनके विभाग में चल रही महिला सम्मान दिवस, जननी सुरक्षा योजना योजन आदि योजनाओं की विस्तार से जानकारी प्राप्त की। अध्यक्ष ने निर्देश दिये कि कितनी महिलाएं स्वास्थ्य केन्दों में आयी और कितनी महिलाओं लाभान्वित हुई और अधिक से अधिक लाभ महिलाओं को मिले इसके लिए आपकी क्या योजना है पूरा व्योरा चार्ट बनाकर उपलब्ध कराये। समाज कल्याण विभाग की जानकारी लेते हुये निर्देश दिये कि जनपद मे जितने महिला शरणालय एवं एनजीओ चल रहे है उनको पंजीकरण अवश्य कराये और समय समय पर उनका निरीक्षण करें। समाज कल्याण अधिकारी द्वारा उनके विभाग में चल रही पेंशन, आदि योजनाओं बारे मे विस्तार से बताया। अध्यक्ष द्वारा विधवा की पुत्री की शादी में जो धनराशी दी जाती है उसमें क्या लाभ महिलाओं को दे रहे है इस पर समाज कल्याण अधिकारी द्वारा अवगत कराया कि विधवा की पुत्री की शादी होने पर ही यह धनराशि दी जाती है। इस पर संज्ञान लेते हुये अध्यक्ष ने कहा कि शादी से पहले यह धनराशि दी जाती है उसका संबंधित को क्या लाभ मिलेगा यह धनराशि शादी से पहले दी जानी चाहिये। इसके लिए शासन स्तर पर वार्ता की जायेगी। पुलिस विभाग को निर्देश देते हुये अध्यक्ष ने कहा कि अक्सर पुलिस विभाग से यह शिकायत मिलती है कि महिलाओ की एफआईआर समय से नही लिखी जाती और उनके साथ सही व्यवहार भी नही किया जाता और पुलिस का सहयोग नही मिलता। इसमें सुधार लाया जाए और सुनिश्चित कर लिया जाऐ कि कितनी शिकायते आयी कितनी शिकायतों का समाधान किया गया। उसका पूरा व्योरा उपलब्ध कराये। उद्योग विभाग को निर्देश देते हुये कहा कि महिलाओं की उद्योगो में भागीदारी होना अति आवश्यक है जिससे महिलाएंे भी उद्यमी बने। भारत सरकार व राज्य सरकार की योजनाओं की जानकारी के लिए आवश्यक प्रचार प्रसार करें जिससे महिलाऐं भी उनका लाभ उठा सके। अध्यक्ष ने महिला शक्ति केन्द्र मे कार्यरत वेलेन्टियरों की कार्याें की जानकारी प्राप्त की मुख्य शिक्षा अधिकारी तथा जिला कृषि अधिकारी द्वारा अपने प्रतिनिधि को बैठक मे भेजने पर नाराजगी व्यक्त की। बैठक के उपरान्त अध्यक्ष ने प्रेस प्रतिनिधियों से वार्ता की। बैठक मे एसीएमओं एचडी शाक्य, जिला कार्यक्रम अधिकारी मुकुल चैधरी,एपीसीटी कमलेश उपाध्याय,जिला समाज कल्याण अधिकारी पी.आर मलिठा,महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र अजंनी रावत नेगी, सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *