कन्सलटेन्ट मिशन के अधिकारियों ने की मुख्य सचिव से मुलाकात

खबर शेयर करें

देहरादून 20 फरवरी। मुख्य सचिव से ए.डी.बी. कन्सलटेन्ट मिशन के अधिकारियों ने सचिवालय सभागार में मुलाकात की। मुख्य सचिव ने मिशन से चर्चा के दौरान जमरानी पेयजल बहुउद्देशीय परियोजना समयबद्ध कार्यक्रम में शुरू करने की अपेक्षा की तथा मुख्य सचिव ने जमरानी पेयजल बहुउद्देशीय परिसर का शीघ्र एक वन्य जीव सर्वे कराने के निर्देश अधीनस्थ अधिकारियों को दिए। मिशन के मुखिया अर्नाड कॉचोइस, प्रिंसीपल वाटर रिसोर्सेस स्पेस्लिस्ट ने बताया कि उनके दल द्वारा परियोजना स्थल का भ्रमण किया गया तथा अधिकारियों से वार्ता भी की गई, मिशन द्वारा परियोजना के डूब क्षेत्र मुरकुडिया गांव का भ्रमण किया गया तथा परियोजना से प्रभावित परिवारों से चर्चा की गई, उन्होंने बताया कि परियोजना के क्रियान्वयन एवं परियोजना के तकनीकी पहलुओं पर विस्तार से सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों तथा परियोजना के क्रियान्वयन एवं पुनर्वास के संबंध में जिलाधिकारी, नैनीताल से विस्तार से चर्चा की गई एवं ए.डी.बी. मिशन द्वारा गोला बैराज बांध कार्यस्थल, कैचमेन्ट एरिया का भ्रमण किया गया। ज्ञातव्य है कि जमरानी पेयजल बहुउद्देशीय परियोजना के अन्तर्गत हल्द्वानी शहर में गोला नदी पर 130.60 मी. ऊँचा बांध बनाया जाना है। उक्त परियोजना से हल्द्वानी शहर को 117 एम.एल.डी पेयजल सुविधा, उत्तराखण्ड एवं उत्तर प्रदेश राज्यों के 1,50,027 है. क्षेत्रफल में सुनिश्चित सिंचाई की सुविधा प्राप्त होगी तथा 14 मेगावाट विद्युत उत्पादन होगा। तथा उक्त परियोजना हेतु समस्त वांछित स्वीकृतियां प्राप्त हो चुकी हैं, तथा परियोजना के बाह्य सहायतित परियोजना के रूप में एशियन डेवलपमेन्ट बैंक के माध्यम से क्रियान्वयन पर दिनांक 18 दिसम्बर, 2019 को सहमति दी गई है। श्री अर्नाड ने बताया कि ए.डी.बी कन्सल्टेशन मिशन द्वारा 17 फरवरी से चार दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम किया गया। जिसमें परियोजना स्थल का भ्रमण अधिकारियों एवं परियोजना के डूब क्षेत्र के गांव मुरकुडिया एवं परियोजना से प्रभावित होने वाले परिवारों से भी चर्चा की गई। मिशन द्वारा गोला बैराज बांध कार्य स्थल एवं कैचमेंन्ट एरिया का भी भ्रमण किया गया। ए.डी.बी. कन्सल्टेन्ट मिशन के प्रतिनिधि मण्डल में प्रिंसीपल वाटर रिसोर्सेस स्पेस्लिस्ट एस.ए.ई.आर श्री अर्नाड काउचोइस, ऐसोसिएट एनवार्यमेंट आफिसर, एस.ए.ई.आर श्री बार्नडो एंजेलिस, वाटर रिसोर्स स्पेशलिस्ट, एस.ए.ई.आर मैरी एल. हॉस्टिस, एनवार्यमेंट स्पेशलिस्ट, एस.डी.एस.एस, फ्रांसिस्को रिकिआर्डी, सीनियर प्रोजेक्ट ऑफिसर नेचुरल रिसोर्स एंड एर्गीकल्चरल आई.एन.आर.एम राजेश यादव, ऐसोसिएट प्रोजेक्ट ऑफिसर, क्रिशन एस. रौतेला शामिल थे। बैठक में सचिव राजकीय सिंचाई उत्तराखण्ड शासन डॉ भूपिन्दर कौर औलख एवं इंजीनियर इन चीफ राजकीय सिंचाई इं. मुकेश मोहन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *