राजकीय एलापैथिक डिस्पेंसरी को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बनाने की मांग को धरना

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। बनभूलपुरा संघर्ष समिति ने शनिवार को राजकीय एलापैथिक डिस्पेंसरी में धरना दिया। जिसमें बनभूलपुरा में स्थित राजकीय एलोपैथिक डिस्पेंसरी को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बनाने व इसमें समस्त चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की गई। ऐसा न होने पर भूख हड़ताल की चेतावनी दी गई है। 

धरने को संबोधित करते हुए समिति संयोजक उवैस राजा ने कहा कि इस डिस्पेंसरी को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तब्दील करने के लिए अप्रैल 2019 में सरकार द्वारा 30 लाख का बजट भी पास किया जा चुका है। जिसके तहत 1.5 लाख रूपये की पहली किश्त भी जारी कर दी गई है। लेकिन सीएमओ नैनीताल द्वारा फाईल को आगे नहीं बढ़ाया गया है। जो स्वास्थ्य महकमे की लापरवाही को उजागर करता है। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द इस डिस्पेंसरी में जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाएं और रात्रि में इमरजेंसी सुविधाएं सुचारू की जायें। जिससे क्षेत्र के लोगों को इलाज के लिए इधर-उधर न भटकना पड़े। उन्होंने कहा कि यदि एक सप्ताह के अंदर उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वह भूख हड़ताल पर बैठने को विवश होंगे। जिसकी समस्त जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की होगी। धरना-प्रदर्शन में आदिल मिकरानी, सुलेमान खान, आरिश अली, आमिर कुरैशी, शोएब खान, बिलाल खान, वसीम सिद्दीकी, अकील अहमद, मोहम्मद आलम, उस्मान अली, सलाउद्दीन अंसारी, सुलेमान मिकरानी, मोहम्मद आरिफ, मोहम्मद भूरा, इमरान कुरैशी, मोहम्मद शुऐब, शाहरूख मंसूरी, गुलशन अहमद, अजहर मलिक, भोला उर्फ अफरोज, मोहम्मद आरिफ, इरशाद मिकरानी, शकील सलमानी, पार्षद कम्मो रानी, जीशान परवेज, रईस वारसी गुड्डू समेत दर्जनों लोग मौजूद रहे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *