डीएम ने दिए डेंगू की रोकथाम को अभी से कार्य योजना बनाने के निर्देश

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। डेंगू वकोरोना वायरस के सम्बन्ध में जिलाधिकारी सविन बंसल की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक कैंप कार्यालय में संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि पिछले साल डेंगू को लेकर जिले में काफी भयावह स्थिति थी तथा डेंगू को लेकर जनपद नैनीताल खास तौर पर हल्द्वानी महानगर सुर्खियों में रहा।

उन्होंने कहा कि सर्दी अब विदायी की ओर है और आने वाले कुछ दिनों बाद गर्मी का अहसास होने लगेगा, इसलिए डेंगू से निपटने के लिए कारगर योजना अभी से बनाकर कार्य शुरू कर दिया जाये। उन्होंने कहा कि होली के बाद जन-जागरूकता कार्यक्रम प्रारंभ कर दिये जायं। इस कार्यक्रम में स्कूली छात्र-छात्राअें एवं एनएसएस, एनसीसी के बच्चों, आशा कार्यकत्रियों तथा एएनएम को भी शामिल किया जाये। उन्होंने कहा कि नगरीय क्षेत्रों में फॉगिंग कार्य के लिए मशीनों की व्यवस्था के साथ ही रसायन की व्यवस्था भी कर ली जाये। शहरी क्षेत्रों में नगर पालिकाएं तथा ग्रामीण क्षेत्रों में मलेरिया विभाग समयबद्ध तरीके से फॉगिंग का काम अगले महीने से शुरू कर दें। उन्होंने कहा कि सोबन सिंह जीना बेस तथा डॉ सुशीला तिवारी चिकित्सालय में डेंगू वार्ड बनाये जाने के लिए सभी व्यवस्थाऐं पूरी कर ली जायें। इसके साथ ही पैथोलॉजी लैब की सक्रियता एवं तत्परता को भी माईक्रो प्लान में शामिल किया जाये। पिछले साल की भांति पैथोलॉजी लैब निरन्तर कार्य करेंगी। प्राईवेट पैथोलॉजी में डेंगू परीक्षण की दरें अभी से निर्धारित कर ली जायें तथा सरकारी अस्पतालों में डेंगू एलाईज़ा किटों की मांग स्वास्थ्य निदेशालय को भेज दी जाये। कोरोना वायरस संक्रमण की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में इस वायरस से प्रभावित मरीजों की संख्या शून्य है। फिर भी बाहरी मुल्कों विशेषकर चाईना से आने वाले लोगों की विशेष निगरानी की जा रही है। जनपद में 18 केसों की निगरानी की गयी, अलबत्ता कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं मिला है, जांच का काम एम्स ऋषिकेश के माध्यम से किया जा रहा है। जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभावित लोगों के ईलाज के लिए 45 बेडों के वार्ड तैयार किये गये हैं। स्वास्थ्य विभाग तथा मेडिकल काॅलेज की टीमों द्वारा सभी विद्यालयों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में जनजागरूकता कार्यक्रम भी संचालित किये जा रहे हैं। बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, सिटी मजिस्ट्रेट प्रत्यूष कुमार सिंह, एसडीएम विवेक राय, मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, बाल विकास परियोजना अधिकारी रेणु मर्तोलिया, एसीएमओ डाॅ.तरूण कुमार टम्टा, चिकित्सा अधीक्षक एसटीएच डाॅ.अरूण कुमार जोशी, डाॅ.विनीता रावत के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *