राजधानी में सामान लेने उमड़े लोग, लगा जाम, बनाया मुर्गा

खबर शेयर करें

देहरादून। प्रधानमंत्री के अगले 21 दिन तक लॉक डाउन के आदेश के बाद आज सुबह जब देहरादून में लोग सामान लेने पहुंचे तो ट्रैफिक जाम हो गया। सुबह दून सहित अन्य शहरों में खुली दुकानों में भारी भीड़ दिखाई दी।

देहरादून में सुबह सात बजे ही जाम की स्थिति हो गई थी। मसूरी में भी राशन और सब्जी की दुकानों में भीड़ लगी रही। यहां आज दूध सप्लाई नहीं हुई। केमिस्ट की दुकान के बाहर लंबी लाइन लगी हुई दिखी। एटीएम के बाहर और पूजन सामग्री की दुकानों में भी भीड़ नजर आई। कहीं-कहीं जरूरी चीजों के दामों में उछाल दिखाई दिया। तीन घंटे की ढिलाई के दौरान टनकपुर बाजार में उमडी़ भीड़। 10 बजे बाद वाहन सवारों को रोककर सीपीयू ने घर जाने की अपील की। लॉक डाउन के दौरान धारा 144 का उल्लंघन कर हुड़दंग मचाने वालों को पुलिस ने मुर्गा बनाया। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए किए गए लॉक डाउन के दौरान पुलिस के तेवर बदले नजर आए। लाठी के बल पर सड़कों पर बिना जरूरी काम के निकले लोगों को वापस कर लॉक डाउन का पालन कराया। वहीं, पुलिस ने लोगों को ऐसे पर्चे दिए कि पढ़कर उनका सिर शर्म से झुक गया। लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ धारा 188, शांतिभंग और मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई की। पुलिसकर्मी सड़कों पर, हर गली, हर चौराहे पर तैनात रहे। राजधानी देहरादून से लेकर पूरे गढ़वाल और कुमाऊं में पुलिस ने खूब सख्ती दिखाई। रुड़की में कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लॉकडाउन और धारा 144 लगने के बाद शहर से देहात तक अघोषित कर्फ्यू जैसे हालात रहे।

सुबह दस बजे के बाद घरों से बाहर निकलकर सड़कों और गलियों में घूमने वालों पर पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए लाठियां भांजकर घर भेजा। पुलिस ने सुबह सात से दस बजे तक सामान खरीदने का समय दिया। इसके बाद घरों में ही रहने की अपील की, लेकिन अपील के बाद भी शहर से लेकर देहात तक लोग घरों से बाहर निकले तो पुलिस को सख्ती दिखानी पड़ी। शाम को भी कुछ लोगों ने सड़कों पर आने की कोशिश तो पुलिस को सख्ती बरतनी पड़ी। इसे लेकर कुछ लोग वहां पुलिस से डरे नजर आए तो कुछ लोग बखौफ होकर सड़कों पर घूमते दिखे। लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर गंगनहर कोतवाली पुलिस ने भीम आर्मी के प्रदेश महासचिव समेत एक दुकानदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *