चैत्र नवरात्र के पहले दिनों घरों में गूंजी शंख-घंटियों की ध्वनि, कोरोना से बचाने की कामना

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। हिन्दू नव संवत्सर का बुधवार से शुभारंभ हो गया है। इसके साथ ही चैत्र नवरात्र शुरू हो गये हैं। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते धार्मिक स्थलों पर प्रतिबंध होने के चलते श्रद्घालुओं ने घरों में ही पूजा-अर्चना की। साथ ही कोरोना वायरस के प्रकोप से बचाए रखने की कामना की।

हिन्दू नव संवत्सर के साथ ही बुधवार से चैत्र नवरात्रि की शुरूआत हो गई है। हालांकि कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते इस समय देश में लॉक डाउन है। जिसके चलते लोग घरों में बंद हैं। धार्मिक स्थलों में आने-जाने पर भी पूर्णतया प्रतिबंध लगा हुआ है। ऐसे में नवरात्र के पहले दिन प्रातः से ही लोग अपने-अपने घरों में पूजा-अर्चना में जुटे रहे। जगह-जगह घरों से शंख और घंटियों की ध्वनि सुनाई देती रही। वहीं कई घरों से उठता हवन का सुगंधित धुआं वातावरण को भक्तिमय बना रहा था। नवरात्र का पहला दिन होने के चलते धार्मिक स्थलों में कोई भी श्रद्घालु न आने पाए, इसके लिए मंदिरों के आस-पास भी पुलिस का पहरा रहा। पहले दिन लोगों ने उपवास रखा और पूजा-अर्चना की। इसके साथ ही कई घरों में सप्तशति पाठ, दुर्गा स्तुति समेत हवन-यज्ञ व अन्य धार्मिक अनुष्ठान शुरू हो गये हैं। नवरात्र के पहले दिन लोगों ने नगर में इधर-उधर फंसे लोगों को भोजन भी कराया। लोगों ने पूजा-अर्चना करने के साथ ही सुख-समृद्घि व कोरोना वायरस से बचाए रखने की कामना भी माता रानी से की। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *