भारतीय संविधान तैयार करने में लगा 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय

खबर शेयर करें

नैनीताल। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से संविधान के 70 साल पूरे होने पर जन जागरूकता अभियान संचालित किये जा रहे हैं। जानकारी देते हुए प्राधिकरण के सचिव एवं सिविल जज सीनियर डिवीजन इमरान मौहम्मद खान ने बताया कि गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी को जिला न्यायालय परिसर में गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी की अध्यक्षता अपर जिला जज द्वितीय राकेश सिंह द्वारा की गयी। गोष्ठी में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए अपर जिला जज ने कहा कि भारतीय संविधान को तैयार करने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा। संविधान सभा के सदानन्द सिंहा अस्थायी तथा डाॅ.राजेन्द्र प्रसाद स्थायी अध्यक्ष बने। उन्होंने कहा कि देश में संविधान सर्वोपरि है। इसमे मौलिक अधिकारों के संरक्षण को महत्व दिया गया है। नागरिकों के कत्र्तव्य बाद में जोड़े गए हैं। न्यायाधीश श्री सिंह ने कहा कि शुरूआती दौर में कर्तव्यों के नाम पर शोषण के खतरे की गुंजाईश थी, उन्होंने वर्तमान में नागरिकता संशोधन कानून सहित अन्य मामलों में चल रहे माहौल पर कहा कि आखिर ये हमारे संविधान की खूबसूरती है कि पक्ष के साथ ही विपक्ष को भी अपनी बात रखने की पूरी आजादी है।
गोष्ठी की शुरूआत करते हुए प्राधिकरण सचिव एवं सिविल जज सीनियर डिवीजन इमरान मौहम्मद खान ने संविधान पर विस्तार से प्रकाश डाला। श्री खान ने कहा कि संविधान ही है, जिसकी बदोलत आज हम पड़ोसी मुल्कों से बेहतर स्थिति में हैं। उन्होंने कहा कि संशोधन की व्यवस्था कर के संविधान निर्माताओं ने इसको जीवन्त बनाये रखा है। अभी तक संविधान में 100 से अधिक संशोधन इसके प्रमाण हैं। अध्यक्ष जिला बार एसोशिएसन हरि शंकर कंसल ने संविधान को देश में मान्य सभी धर्म ग्रंथों से ऊपर बताया। उन्होंने वर्तमान में नागरिकता कानून सहित अन्य मामलों में अपनी राय रखी। गोष्ठी में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट निहारिका मित्तल गुप्ता, सिविल जज जूनियर डिवीजन अभय सिंह ने भी अपने विचार रखे। गोष्ठी में अपर सिविल जज द्वितीय जूनियर डिवीजन बुशरा कमाल के अलावा बार के अधिवक्ता गण तथा अन्य लोग मौजूद थे। संचालन पीएलवी जगदीश जोशीन ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *