आश्चर्य अनोखा मंदिर! जहां प्रसाद की जगह चढ़ाए जाते हैं धारदार हथियार।

खबर शेयर करें

अनोखा मंदिर! जहां प्रमुख रूप से धार दार हथियार चढ़ाए जाते हैं।

मान्यता है कि गोपाल बिष्ट भगवान से जो मुराद मांगो पूरी होती है। बदले में श्रद्धालु मंदिर के ठीक सामने पेड़ पर तिलक लगी दरांती गाड़ देते हैं, जिससे गोपाल बिष्ट भगवान प्रसन्न हो जाते हैं। आपने झंडी, घंटी, नारियल, बतासे, तेल, दिया, अगरबत्ती और पशु बलि चढ़ाने वाले मंदिरों के बारे में खूब सुना होगा। लेकिन ​हल्द्वानी के करीब दस किलोमीटर फतहपुर चौसला बिट में सटे घने जंगलों में एक ऐसा अनोखा मंदिर है, जहां इस मंदिर में भक्त धारदार दरांतियां लेकर प्रभु को प्रसन्न करने पहुंचते हैं।

ये अनोखा मंदिर फतेहपुर गांव के करीब बना है, यहाँ पहुँचने के लिए आप चारधाम मंदिर से भी आ सकते है, इसे गांव वाले गोपाल बिष्ट भगवान का मंदिर कहते हैं। मान्यता है कि गोपाल बिष्ट भगवान से जो मुराद मांगो पूरी होती है। बदले में श्रद्धालु मंदिर के ठीक सामने खड़े होकर पेड़ पर तिलक लगी दरांती गाड़ देते हैं, जिससे गोपाल बिष्ट भगवान प्रसन्न हो जाते हैं।

ताज्जुब की बात ये है कि इस पेड़ पर सैकड़ों दरांतियां गड़ी हुई हैं। लेकिन पेड़ की सेहत पर इसका कोई असर नहीं दिखता। ग्रामीण इसे चमत्कार मानते हुए कहते हैं कि सामान्य पेड़ों में कुछ छोटी-छोटी कीलें ठोकने के बाद पेड़ सूखने लगता है। लेकिन इस पेड़ पर सैकड़ों दरांतियां गड़ी हैं और ये पिछले 100 साल से यूं ही खड़ा है। ग्रामीण इसे गोपाल बिष्ट भगवान की कृपा मानते हैं। फतेहपुर गांव के निवासी हरीश पाांडे अपने बुजुर्गों को भी इसी तरह गोपाल बिष्ट जी के मंदिर में पूजा करते देखा है।

इस मंदिर में पूजा से न तो जंगली जानवर खेतों में खड़ी फसल को नुकसान पहुंचाते हैं और न ही जंगल से सटे होने के बावजूद बाघ और लेपर्ड जैसे खूंखार शिकारी ग्रामीणों के पालतू जानवरों को नुकसान पहुंचाते हैं। गांव में ही रहने वाले 80 साल के चिंतामणि सांगरी बताते हैं कि वो पिछले 60 सालों से इस जंगल में अपने साथियों के साथ मवेशियों के लिए चारा काटने जाते हैं। लेकिन उन्हें आजतक किसी जंगली जानवर ने कोई नुकसान नहीं पहुंचाया।

मंदिर के पुजारी नवीन जोशी बताते हैं कि अगर किसी भी ग्रामीण के घर दूध देने वाला मवेशी अचानक बीमार पड़ जाए और दूध देना बंद कर दे तो गोपाल बिष्ट भगवान के मंदिर की विभूति (राख) ऐसा चमत्कार करती है, कि सब कुछ ठीक हो जाता है ये सब गोपाल बिष्ट भगवान की कृपा है।

One thought on “आश्चर्य अनोखा मंदिर! जहां प्रसाद की जगह चढ़ाए जाते हैं धारदार हथियार।

  1. जय गोपाल बिष्ट देवता की।
    अद्भुत चमत्कार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *