कोरोना वायरस से बचाव को दिया प्रशिक्षण, जनजागरूकता

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। डब्ल्यूएचओ के चिकित्सकों ने मेडिकल कॉलेज सभागार में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को कोरोना वायरस से बचाव का प्रशिक्षण दिया। साथ ही इस रोग से बचाव के मुख्य बिंदु भी बताये गये।

इस दौरान संक्रामक रोग विशेषज्ञ डाॅ नंदन कांडपाल ने बताया कि यह बीमारी चाइना के मीट बाजार से प्रारंभ होकर आज पूरे विश्व में घातक बीमारी बन चुकी है। उन्होंने बताया कि यह एक संक्रामक रोग है, जो पीड़ित व्यक्ति के आने संपर्क में आने से होता है। बचाव के लिए मांस का प्रयोग करें नाक, आंख, मुंह को गंदे हाथों से ना छुएं, अधिक भीड़भाड़ वाले स्थानों पर ना जाएं। उन्होंने मास्क की अनिवार्यता केवल बीमार व्यक्ति के लिए ही महत्वपूर्ण बताई। उनका कहना था कि जब भी आप घर में आएं पहले हाथ-मुंह धोएं। उसके बाद घर के अन्य सामानों को छुएं। भोजन इत्यादि करें खाने-पीने की वस्तुओं को ढक कर रखें। कार्यालय में काम करने से पूर्व वहां पर लेख साफ-सफाई अनिवार्य रूप से करें। इस मौके पर सभागार में एसएसपी सुनील कुमार मीणा, एसपीसिटी अमित श्रीवास्तव, कोतवाल प्रमोद कुमार के अलावा कई अधिकारी मौजूद रहे।
इधर संभागीय परिवहन विभाग के अधिकारियों ने भी केमू स्टेशन में कोरोना वायरस से बचाव को जागरूकता अभियान चलाया। जिसमें केमू बस चालकों-परिचालकों को मास्क अनिवार्य रूप से लगाने व बसों में सैनिटाइजर का प्रयोग करने व बसों को ब्लिचिंग पाउडर से धुलवाने को कहा गया। साथ ही परिचालकों से कहा कि वह नोटों की गिनती में पानी का ही प्रयोग करें। इस दौरान आरटीओ राजीव मेहरा व एआरटीओ डाॅ गुरूदेव सिंह ने केमू बस यूनियन के पदाधिकारियों के साथ बैठक भी की। कहा कि कोरोना जैसी महामारी को रोकने के लिए हमें स्वच्छता एवं जागरूकता पर विशेष ध्यान देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *