जनता कर्फ्यू के लिए उत्तराखंड तैयार

खबर शेयर करें

देहरादून। पीएम के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के आह्वान का उत्तराखंड में स्वागत हुआ है। पूरा प्रदेश जनता कर्फ्यू के लिए मन से तैयार है। बुद्धिजीवी वर्ग और व्यापारियों ने इसका समर्थन करते हुए जनता जनता कर्फ्यू में पूर्ण रूप से शामिल होने की बात कही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर 22 मार्च रविवार को देशभर में जनता कर्फ्यू रहेगा। ऐसे में लोगों से सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक घरों में रहने को कहा गया है। केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग ही घरों से बाहर निकल सकते हैं। उत्तराखंड ने पीएम की बात स्वीकारते हुए इसका पूर्ण रूप से पालन करने का निर्णय लिया है। इसमें आमजन के साथ ही सामाजिक व राजनीतिक दल भी इसमें सकारात्मक रवैया अपना रहे हैं। इसके अलावा व्यापारिक संगठन और कर्मचारी संगठनों ने भी इसे आम जनमानस को स्वास्थ्य सुरक्षा के लिहाज से बेहतर कदम बताया है।
राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कोरोना वायरस से बचाव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के आह्वान का शतप्रतिशत पालन करने की जनता से अपील की है। एक बयान में राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री के संदेश को गंभीरता से लेकर इसका पालन किया जाना चाहिए। इससे उत्तराखंड को स्वस्थ बनाए रखने में मदद मिलेगी। राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपील में राष्ट्रवासियों के प्रति जो चिंता व प्रेम प्रर्दिशत किया, उसके लिए उत्तराखंड की ओर से आभार व्यक्त किया जाता है। जिस महामारी से आज पूरा विश्व लड़ रहा है, वह हमारी असावधानी के कारण विकराल रूप न लेने पाए, इसके प्रति प्रधानमंत्री ने जागरूक किया है। ऐसी विषम परिस्थितियों में संयम व धैर्य का प्रदर्शन कर हम एकदूसरे की सहायता करें, यह आवश्यकता है। केंद्र और राज्य की सरकारें अपनी पूर्ण क्षमता के साथ कार्य कर रही हैं। इसमें सभी का सहयोग जरूरी है। राज्यपाल ने कहा कि वायरस से संक्रमित को पर्याप्त उपचार मिले, इसके लिए अस्पतालों पर मरीजों का दबाव न बढ़ने दिया जाए। चिकित्सकों, नर्स, अन्य सेवा कर्मचारियों के योगदान को उल्लेखनीय बताते हुए 22 मार्च को उनके प्रति आभार प्रर्दिशत करने पर जोर दिया है। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू आवाह्न के चलते कालिका माता मंदिर को सुबह सात बजे श्रद्धालुओ के लिए बंद किया जाएगा। मंदिर प्रधान उमेश मिनोचा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सभी श्रद्धालुओं से जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की अपील की जा रही है। उन्होंने बताया कि 22 को मंदिर के कपाट 4:30 खुलेंगे। नित्य, पूजा पाठ और भोग लगाने के बाद सुबह सात बजे बन्द किए जाएंगे। 23 को सुबह 4:30 बजे कपाट यथावत खोल दिए जाएंगे। प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र प्रभाकर के मुताबिक, प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल जिला देहरादून 22 मार्च, रविवार को सुबह सात बजे से रात्रि नौ बजे तक अपने- अपने घरों से बाहर ना निकलने का संकल्प लेता है और अपने-अपने प्रतिष्ठान को बंद रखेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान को शत फीसद सफल बनाया जएगा।
कर्मचारी नेता दीपक जोशी के अनुसार, कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। इसे रोकने के लिए आमजन से लेकर सभी वर्गों और संगठनों को साथ मिलकर एहतियाती कदम उठाने जरूरी हैं। हम पूरी तरह से सरकार के साथ हैं।
भाजपा महानगर अध्यक्ष सीताराम भट्ट ने कहा कि कोरोना एक वैश्विक चुनौती है। इसे लेकर हमें पूरी तरह एकसाथ आकर खुद अपने देश की जनता की सुरक्षा को आगे आना होगा। भाजपा महानगर सभी से अपील करती है कि 22 मार्च को अपने घरों में रहकर जनता कर्फ्यू में सहयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *